Central Excise Day 2024, Lifestyle News
केंद्रीय उत्पाद शुल्क दिवस (फोटो- सोशल मीडिया)

Loading

सीमा कुमारी 

नवभारत लाइफस्टाइल डेस्क: ‘केंद्रीय उत्पाद शुल्क दिवस’ (Central Excise Day 2024) हर साल 24 फरवरी को मनाया जाता है। जानकारों के अनुसार, यह दिवस का संचालन केंद्रीय वित्त मंत्रालय के अंतर्गत ‘केंद्रीय उत्पाद और सीमा शुल्क विभाग की ओर से किया जाता है। इस दिवस का मुख्य लक्ष्य आम लोगों में उत्पाद शुल्क और सेवा शुल्क की अहमियत बताना है। 

जानिए क्या है दिवस का इतिहास 

आज के दिन यानी 24 फरवरी, 1944 को केंद्रीय उत्पाद शुल्क और नमक कानून लागू किए जाने के उपलक्ष्य में हर साल ‘केंद्रीय उत्पाद शुल्क दिवस’ यानी सेंट्रल एक्साइज डे के रूप में मनाया जाता है। 

जानिए दिवस से जुड़े रोचक तथ्य

आज केंद्रीय उत्पाद शुल्क दिवस’ (Central Excise Day) के अवसर पर आइए जानें इससे जुड़ी रोचक जानकारी

– जानकारों का मानना है कि, किसी भी देश के औद्योगिक विकास में केंद्रीय उत्पाद शुल्क विभाग की अहम भूमिका होती है। पूरे भारतवर्ष में टैक्स के भुगतान को आसान बनाने के लिए इस विभाग ने टैक्स सिस्टम में कई सुधार किए हैं, जिसमें कई प्रकार से तकनीक का भी इस्तेमाल किया गया।

– ‘केंद्रीय उत्पाद शुल्क दिवस को मनाए जाने का मुख्य लक्ष्य आम लोगों में उत्पाद शुल्क और सेवा शुल्क की अहमियत को समझाना है। इस दिन कई कार्यक्रमों का आयोजन बोर्ड की ओर से किया जाता है। इन कार्यक्रमों में जागरूकता कार्यक्रम, पुरस्कार समारोह, सेमिनार, शैक्षिक और सांस्कृतिक कार्यक्रम आदि  प्रतियोगिताएं शामिल है।

– केन्द्रीय उत्पाद शुल्क भारत में उत्पादित वस्तुओं पर लगने वाला अप्रत्यक्ष कर है। यह शुल्क उपभोक्ता पर अप्रत्यक्ष रूप से लगाया जाता है। उत्पाद शुल्क अलग-अलग वस्तुओं पर अलग-अलग होता है। भारत में सबसे ज्यादा केन्द्रीय उत्पाद शुल्क लगता है।