ज्ञान की बात: उबलने पर बाहर क्यों बहता है दूध, लेकिन बर्तन के बाहर क्यों नहीं निकलता पानी? जानें कारण

    नई दिल्ली: ऐसे कई सवाल होते है जिसके बारे में जानने के लिए हम बहुत जिज्ञासा रखते है। क्या आपके भी मन में ये सवाल आया है कि दूध उबलते ही बर्तन के बाहर बहता है, लेकिन पानी कितना भी उबल जाए लेकिन वह बर्तन के बाहर क्यों नहीं बहता? आखिर इसके पीछे क्या वजह हो सकती है। आज हम  आपके इसी सवाल का जवाब देने वाले है। तो आईये जानते है इसके पीछे क्या है वजह…. 

    आपको बता दें कि उबलने पर दूध बाहर बहता है, इसके पीछे वजह है दूध में पाए जाने वाले तत्व। आपके जानकारी के लिए बता दें कि दूध में फैट, प्रोटीन, लैक्टोज होते हैं। जब हम दूध को गर्म करते है, तो इनका आपस में रिएक्शन होता है। इससे होता क्या है कि जब दूध गर्म होता है तो उसमें से पानी इवेपोरेट (भाप) करना शुरू होता है। दूध में मौजूद वसा और अन्य पदार्थों के कंसनट्रेशन बढ़ जाते हैं। 

    इसके बाद फैट, दूध में मौजूद प्रोटीन और कई तत्व अलग अलग होना शुरू हो जाते हैं ये काफी हल्के होते हैं और तेजी से ऊपर आ जाते हैं और क्रीम के रूप में दूध के ऊपर एक सतह बना लेते हैं, जो बाद में मलाई बन जाती है। 

    फिर इसके बाद पानी भाप के रूप में ऊपर उड़ना शुरू करता है और ऊपर इन सभी तत्व की लेयर इसे रोकती है। फिर भाप का प्रेशर बनता है और यह इस लेयर को ऊपर धकेलता है और भाप बाहर निकलने की कोशिश करती है। इसे केसीन की परत कहा जाता है और भाप के प्रेशर से यह परत ऊपर उठती है। जब दूध लगातार गर्म होता है तो भाप का प्रेशर ज्यादा हो जाता है और वो दूध की इस परत को ऊपर धकेलता है, इस वजह से दूध बर्तन के बाहर आ जाता है।