आयरन से भरपूर है ‘पालक पंडोली’, एनीमिया की तकलीफ हमेशा रहेगी दूर

    -सीमा कुमारी

    अक्सर महिलाओं को सुबह या शाम के नाश्ता को लेकर एक टेंशन ही रहती है, कि क्या बनाएं जो हेल्दी हो और हर कोई पसंद से खा भी ले। तो, टेंशन की बात नहीं, अब बनाएं हेल्दी ‘पालक पंडोली’। आइए जानें इसकी रेसिपी –

    सामग्री  

    घोल के लिए सामग्री

    1/4 कप पालक की प्यूरी,

    1/4 कप ब्रेड क्रम्ब्स,

    1/2 कप भुनी सूजी,

    1/2 टीस्पून नमक,

    1/2 टीस्पून अदरक-हरी मिर्च का पेस्ट,

    1 नींबू का रस,

    1 टीस्पून फ्रूट सॉल्ट,

    2 टेबलस्पून कद्दूकस की हुई गाजर,

    2 टेबलस्पून अमेरिकन कॉर्न,

    सर्व करने के लिए मनपसंद सॉस

    तड़के के लिए सामग्री

    1 टेबलस्पून तेल,

    1 टीस्पून काली सरसों,

    1 लाल मिर्च कटी हुई, कुछ करी पत्ते

    बनाने की विधि  

    नींबू का रस और फ्रूट सॉल्ट के अलावा घोल की सभी सामग्री मिलाकर गाढ़ा घोल तैयार करें। फिर एक बड़े-गहरे भगौने में आधा पानी भरें और उस पर मसलिन का कपड़ा बांधकर गैस पर उबलने के लिए रखें।

    इसके बाद घोल में नींबू का रस व इनो फ्रूट सॉल्ट मिलाएं और जब बुलबुले उठने लगें तो भगौने पर बंधे कपड़े पर बराबर-बराबर दूरी पर 1-2 टेबलस्पून घोल डालें।

    घोल डालने के बाद उस पर गाजर कॉर्न रखें। इस तरह एक बार में 5-7 पंडोली बना लें।

    अब पंडोली के कपड़े को किसी ऊंचे ढक्कन से ढककर 5-7 मिनट तक भाप में पकाएं।

    इसके बाद गर्म तेल में तड़के की सारी सामग्री डालकर बघार तैयार करें और हर पंडोली पर डालें। गर्मागर्म पंडोलियों को सॉस के साथ सर्व करें।

    इस व्यंजन का सबसे बड़ा फायदा ये है कि पालक एनीमिया को दूर करने में बड़ी भूमिका निभाता है।