हेल्थ और स्किन के लिए वरदान इस सब्जी के फूल, इस हिसाब से डाइट में करें शामिल

सहजन के फूल

    -सीमा कुमारी

    सेहतमंद रहने के लिए सही खान-पान का होना बहुत जरूरी है, क्योंकि, इससे इम्यूनिटी मजबूत होती है और साथ ही साथ बीमारियों से भी बचाव होता है। ऐसे में आप डेली डाइट में सहजन (Drumsticks flowers) के फूलों को शामिल कर सकते हैं। सहजन को ‘मोरिंगा’ ‘ओलीफेरा’ के नाम से भी जाना जाता है।आपने कई बार सहजन फल की सब्जी तो जरूर खाई होगी। लेकिन, जानें इसके फूलों का सेवन करने का तरीका और फायदे :

    ऐसे करें डेली डाइट में शामिल

    आप सहजन के फूलों की सब्जी बनाकर खा सकते हैं।

    इसे अन्य सब्जियों में मिलाकर भी खाया जा सकता है।

    आप सहजन के फूलों का काढ़ा, चाय और इसके फूलों के अर्क का रोजाना सेवन कर सकते हैं।

    सहजन फूल खाने के फायदे

    हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, सहजन के फूलों में भरपूर मात्रा में कैल्शियम और फॉस्फोरस पाया जाता है। ऐसे में इसका सेवन करने से हड्डियों को मजबूती मिलती है। इसके साथ ही ये गठिया की समस्या से राहत दिलाने में कारगर माने गए हैं।

    इसका सेवन करने से याददाश्त और एकाग्रता  शक्ति तेजी से बढ़ती है। दरअसल, सहजन के फूलों में ग्लूटामिक एसिड नामक तत्व होता है जो अमोनिया के नशे को रोकने में मदद करता है। ग्लूटामिक एसिड को एक्टिव न्यूरोट्रांसमीटर कंपाउंड भी कहा जाता है जो एकाग्रता और याददाश्त को तेज करने में कारगर होता है। ऐसे में बच्चे से लेकर बड़ों तक हर किसी को इसे अपनी डेली डाइट में शामिल करना चाहिए।

    एक्सपर्ट्स के अनुसार, सहजन के फूलों का सेवन करने से स्किन को प्रोटीन मिलता है। यह स्किन की कोशिकाओं को नुकसान होने से बचाता है। इसके साथ ही इसका सेवन करने से स्किन इंफेक्शन और घाव तेजी से भरने में मदद मिलती है।

    सहजन के फूल में कई पोषक तत्व पाए जाते है | जैसे -विटामिन ए, बी1, बी 2 या राइबोफ्लेविन, बी3 या नियासिन, बी-6, सी, फोलेट और एस्कॉर्बिक एसिड, कैल्शियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, जस्ता, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल, एंटी-डिप्रेसेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं।