प्रेग्नेंसी में रख रही हैं नवरात्रि का व्रत, तो इन बातों का ज़रूर रखें ख्याल

    -सीमा कुमारी

    नवरात्रि का व्रत हिंदू धर्म में विशेष स्थान रखता है। इस दौरान श्रद्धालु शक्ति की देवी मां दुर्गा की कृपा पाने के लिए व्रत रखते हैं। हालांकि, इस समय गर्भवती महिलाओं को व्रत रखने की सलाह नहीं दी जाती। इसके बावजूद, अगर आप ‘नवरात्र’ (Navratri) में व्रत रखने की सोच रही हैं, तो आपको कुछ सावधानियां बरतनी होगीं, ताकि बच्‍चा और आप दोनों स्‍वस्‍थ और सुरक्षित रहें। ऐसे में आइए जानें कुछ महत्वपूर्ण बातों के बारे में –

    हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, गर्भवती महिलाओं को निर्जला व्रत रखने से बचना चाहिए। इससे उनकी सेहत के साथ शिशु के विकास में भी बांधा आ सकती है। इसलिए व्रत में भरपूर पानी पीएं।

    अगर आप व्रत रख रही है तो हर 2 घंटे में कुछ ना कुछ जरूर खाते व पीते रहिए। इससे शरीर में कमजोरी, थकान नहीं होगी। साथ ही शिशु की सेहत भी दुरुस्त रहेगी।

    गर्भवती महिलाओं को व्रत रखने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लेनी चाहिए। वे आपको अच्छे से बता पाएंगे कि आपका शरीर व्रत रखने के लिए तैयार है या नहीं। असल में, व्रत दौरान शरीर में पानी की कमी, कमजोरी, थकान आदि की समस्या होने का खतरा रहता है। ऐसे में इस दौरान गर्भ में पल रहे बच्चे को भी नुकसान हो सकता है। इसलिए आप डॉक्टर से अपनी सेहत के बारे में पूछकर ही व्रत रखें।

    एक्सपर्ट्स बताते हैं कि, गर्भवती महिलाओं को खुद के साथ बच्चे की सेहत का भी खास ध्यान रखने की आवश्कता होती है। इसलिए आप अपनी डेली डाइट में ताजे फल, सब्जियां, सूखे मेवे, जूस, नारियल पानी, चिया सीड्स आदि शामिल करें। इसके साथ ही कुछ भी तला-भुना खाने से बचें।

    व्रत दौरान शरीर में कमजोरी बढ़ने लगती है। इसलिए इस समय ऐसा कोई काम ना करें जिससे आपको थकान महसूस हो। इसके अलावा दिनभर में समय निकालकर आराम करें।

    व्रत दौरान महिलाएं अकसर नमक का सेवन बिल्‍कुल नहीं करती हैं। लेकिन अगर आप प्रेगनेंट हैं तो ऐसा करने से बचें। नमक का सेवन ना करने से आपका बीपी लो होने की संभावना बन सकती है जो आपके और बच्चे के लिए समस्‍याएं पैदा कर सकता है।

    इन सामान्य बातों को ध्यान में रख कर गर्भवती महिलाएं व्रत रख सकती हैं।