Raisins are very beneficial in winterRaisins are very beneficial in winter
File Photo

    -सीमा कुमारी

    पोषक तत्वों व एंटी-ऑक्सीडेंट्स गुणों से भरपूर ‘किशमिश’ का सेवन सेहत के लिए किसी रामवाण से कम नहीं हैं। क्योंकि इसके सेवन से इम्यूनिटी तेजी से बूस्ट होती है। ऐसे में बीमारियों की चपेट में आने का खतरा भी कम रहता है। एक्सपर्ट अनुसार, किशमिश को भिगोकर खाने से इसकी गुणवत्ता और भी बढ़ जाती है। ऐसे में इसे खाने से आपको दोगुणा फायदा मिलेगा। आइए जानें किशमिश खाने का सही तरीका व इसके फायदे

    कैसे करें सेवन-

    भिगोकर किशमिश खाने से इसके अंदर मौजूद पोषक तत्व व एंटी-ऑक्सीडेंट्स गुण बढ़ जाते हैं। इसके साथ ही भिगोने से किशमिश का छिलका हल्का थोड़ा पतला हो जाता है। ऐसे में इसे खाने से इसमें मौजूद पोषक तत्व आसानी से मिल जाते हैं। इसके लिए एक गिलास पानी में 10-20 किशमिश रातभर भिगोएं। अगली सुबह खाली पेट इसका सेवन करें।

    एक्सपर्ट्स के मुताबिक,किशमिश खाने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है। यह खून साफ करने में मदद करता है। इसके साथ ही इसमें फाइबर, विटामिन्स, मिनरल्स आदि गुण होते हैं। ऐसे में इसका सेवन करने से हार्ट अटैक आने व दिल संबंधी अन्य बीमारियों से बचाव रहता है।

    किशमिश पोषक तत्वों व एंटी-ऑक्सीडेंट्स गुणों से भरपूर होता है। इसे पानी में भिगोकर खाने से इम्यूनिटी तेजी से बूस्ट होती है। ऐसे में थकान, कमजोरी आदि समस्याओं से बचाव रहता है।

    हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार, हड्डियों में मजबूती लाने के लिए कैल्शियम जरूरी होता है। वहीं किशमिश कैल्शियम का मुख्य स्त्रोत है। इसलिए इसका सेवन करने से हड्डियों में मजबूती आती है। ऐसे में बच्चे से लेकर बड़ों तक हर किसी को बेहतर शारीरिक विकास के लिए किशमिश का सेवन करना चाहिए।

    कैल्शियम हड्डियों की तरह दांतों की मजबूती करता है। ऐसे में आप मजबूत दांतों के लिए रोजाना खाली पेट किशमिश खा सकती है।