पीपल के पत्तों से इन 4 रोगों का हो सकता है अचूक इलाज, जानें कैसे करें इस्तेमाल

    -सीमा कुमारी

    औषधीय गुणों से भरपूर ‘पीपल’ का पेड़ किसी वरदान से कम नहीं होता है। क्योंकि,’पीपल’का पेड़ सबसे ज्यादा ऑक्सीजन देता है। इसके अलावा, इसकी पेड़ की छाल का इस्तेमाल कई बीमारियों के इलाज में भी किया जाता है। आइए जानें पीपल के पत्तों से कौन-कौन सी बीमारियों का हो सकता है इलाज –

    जानकारों के मुताबिक, पीपल के पत्तों का इस्तेमाल कब्ज और गैस की समस्या का उपचार करने में किया जाता है। इसे पित्‍तनाशक भी माना जाता है। इसलिए पेट की समस्याओं में इसका इस्तेमाल बेहद फायदेमंद है।

    आयुर्वेद में पीपल के पत्तों को नीम की तरह औषधीय माना जाता है। अगर आपको सांस संबंधी किसी भी तरह की समस्या है, तो पीपल का पेड़ बहुत फायदेमंद हो सकता है। पीपल के पेड़ की छाल का अंदरूनी हिस्सा निकालकर सुखा लें और सूखे हुए इस भाग का चूर्ण बनाकर खाने से सांस संबंधी सभी समस्याओं को दूर किया जा सकता है।

    अगर आपके पैरों या हाथ के बाल टूटकर उसपर घाव होता है, तो उसके लिए पीपल बहुत उपयोगी है। बालतोड़ पर पीपल का दूध लगाने से जल्दी ठीक हो जाता है। पीपल की छाल को पानी में घिसकर फोड़े में लगाने से फोड़ा जल्दी ठीक हो जाता है।

    एक्सपर्ट्स के अनुसार, पीपल की दातुन करने से दांत मजबूत होते हैं, और दांतों में दर्द की समस्या समाप्त हो जाती है। इसके अलावा पीपल की छाल, कत्था और 2 ग्राम काली मिर्च को बारीक पीसकर आप इसका टूथपेस्ट भी तैयार कर सकते हैं। इससे आपको दांत संबंधी, जैसे कीड़े लगना, मसूड़ों में दर्द, सूजन जैसी कोई परेशानी नहीं होगी।

    कई लोगों को स्किन की समस्याएं बेहद परेशान करती है ऐसे लोग पीपल की छाल को 20 ग्राम कूटकर 200 ग्राम पानी में उबालें और एक चौथाई रहने पर छानकर सुबह पी लें। स्किन की समस्याओं से निजात मिलेगी। दाद, खाज, खुजली में पीपल के पत्तों को खाने से या इसका काढ़ा बनाकर पीने से फायदा होगा।