इस सभी बीमारियों का काल है ‘ताड़ का रस’, हफ्ते में 1 दिन जरूर करें इनका सेवन

    -सीमा कुमारी

    ‘ताड़ का रस’ यानी ‘नीरा’ सेहत के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। स्वाद में मीठी और सफेद रंग वाला ‘ताड़ का रस’ कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है। अब आप सोच रहे होंगे कि,आखिर नीरा होता क्या है। बता दें नार‍ियल और खजूर के पेड़ से जो ताजा रस (ताड़ का रस) निकलता है, उसे नीरा कहते है। इसमें 84% के अलावा कैल्शियम, पोटेशियम, फॉस्‍फोरस, आयरन, जिंक, विटामिन बी, विटामिन बी कॉम्‍प्‍लेक्स जैसे कई पोषक तत्व होते हैं, जो शरीर को बीमारियों से बचाने में मदद करते हैं। आइए जानें, ‘नीरा’ पीने से होने वाले फायदे –

    हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, शरीर में पानी की कमी या किसी और वजह से यूरिन पास करते समय जलन होता है तो ऐसे में नीरा’का सेवन करने से इससे निजात मिल सकता है।

    आंखों की रोशनी बढ़ाने के अलावा नीरा आईज ड्राईनेस, जलन, खुजली, धुंधलापन, कंजक्टिवाइटिस को दूर रखने में भी मदद करता है।

    पेट से जुड़ी बीमार‍ियों को दूर करने में भी नीरा काफी फायदेमंद है। हफ्ते में 1 बार इसका सेवन कब्ज, एसिडिटी, आंत की समस्याओं को दूर रखता है।

    नीरा का सेवन गर्भवती महिलाओं के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है | क्योंकि, इसके सेवन से कमजोरी, सुस्ती, थकावट दूर होती है |

    एक्सपर्ट्स के अनुसार,शरीर में खून या व्हाइट सेल्स की कमी है तो इसका सेवन करें। इसमें आयरन व जिंक होता है, जो एनीमिया को दूर करने में मददगार है।

    गर्मी में इसका सेवन शरीर को डिहाइड्रेशन से बचाने में मदद करता है क्योंकि इसमें 84% पानी होता है। साथ ही इससे आपको एनर्जी भी मिलती है।

    ताड़ के गुड़ खाने से हड्डियां मजबूत होती है. और ये जोड़ों से जुड़ी समस्या और आर्थराइटिस समस्या के लिए भी मददगार है। इस गुड़ में कैल्सियम होता है, जो हड्डियों को मजबूत औ स्वस्थ बनाता है।

    टीबी जैसी गंभीर बीमार‍ी में भी नीरा पीना फायदेमंद है। डॉक्टर्स भी टीबी की बीमारी में इसे पीने की सलाह देते हैं। इसके अलावा, नीरा का सेवन करने से पीलिया के लक्षण नजर भी कम होते हैं और जल्दी रिकवरी होती है।