नया साल लेकर आ रहा ग्रहण के 4 गजब नज़ारे, पूर्ण चंद्रग्रहण से होगी शुरुआत

आने वाले साल 2021 में सूर्य (Sun), पृथ्वी (Earth) और चंद्रमा (Moon) की चाल दुनियाभर (Whole World) के खगोल प्रेमियों (Astro Lovers) को एक पूर्ण चंद्रग्रहण (Full lunar eclipse) और एक पूर्ण सूर्यग्रहण (Full solar eclipse) समेत ग्रहण के 4 रोमांचक दृश्य दिखाएगीहालांकि, भारत (India) में इनमें से केवल 2 खगोलीय घटनाएं निहारी जा सकेंगीउज्जैन (Ujjain) की प्रतिष्ठित शासकीय जीवाजी वेधशाला के अधीक्षक डॉ. राजेंद्र प्रकाश गुप्त (Dr. Rajendra Prakash Gupta) ने बताया कि अगले साल (Next Year) की इन खगोलीय घटनाओं का सिलसिला 26 मई (26 May) को लगने वाले पूर्ण चंद्रग्रहण से शुरू होगा

उन्होंने कहा, नववर्ष (New Year) का यह पहला ग्रहण (First Eclipse) सिक्किम (Sikkim) को छोड़कर भारत के पूर्वोत्तर के राज्यों (States), बंगाल (Bengal) के कुछ हिस्सों और ओडिशा (Odisa) के तटीय क्षेत्रों में दिखाई देगा, जहां चंद्रोदय देश के दूसरे इलाकों के मुकाबले जल्दी होता हैइस खगोलीय घटना के वक्त चंद्रमा पृथ्वी की छाया से 101.6 प्रतिशत ढक जाएगापूर्ण चंद्रग्रहण तब लगता है, जब सूर्य और चंद्रमा के बीच पृथ्वी आ जाती है और अपने उपग्रह चंद्रमा को अपनी छाया से ढक लेती हैचंद्रमा इस स्थिति में पृथ्वी की ओट में पूरी तरह छिप जाता है और उसपर सूर्य की रोशनी नहीं पड़ पाती हैइस खगोलीय घटना के वक्त पृथ्वीवासियों को चंद्रमा रक्तिम आभा लिए दिखाई देता है 

वलयाकार सूर्यग्रहण देश में दिखाई नहीं देगा-

लिहाजा इसे ब्लड मून (Blood Moon) भी कहा जाता है गुप्त ने भारतीय संदर्भ में की गई कालगणना के हवाले से बताया कि 10 जून (10 June) को लगने वाला वलयाकार सूर्यग्रहण देश में दिखाई नहीं देगा इस खगोलीय घटना के वक्त सूर्य और पृथ्वी के बीच चंद्रमा आ जाएगा इस कारण पृथ्वीवासियों को आग का चमकदार छल्ला (Sun Ring Of Fire) के रूप में 94.3 प्रतिशत ढका नजर आएगा19 नवंबर (19 November) को लगने वाले आंशिक चंद्रग्रहण को अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) और असम (Asam) के कुछ भागों में बेहद कम समय के लिए निहारा जा सकेगा

 इस खगोलीय घटना के चरम पर चंद्रमा का 97.9 प्रतिशत हिस्सा पृथ्वी की छाया से ढका दिखाई देगा तकरीबन 2 सदी पुरानी वेधशाला के अधीक्षक ने बताया कि 4 दिसंबर को लगने वाले पूर्ण सूर्यग्रहण के दौरान सूर्य और पृथ्वी के बीच चंद्रमा कुछ इस तरह आ जाएगा कि सौरमंडल का मुखिया सूर्य 103.6 प्रतिशत ढका नजर आएगा हालांकि, वर्ष 2021 के इस अंतिम ग्रहण को भारत में नहीं निहारा जा सकेगा समाप्ति की ओर बढ़ रहे वर्ष 2020 में 2 सूर्यग्रहण और 4 चंद्रग्रहण समेत ग्रहण के 6 रोमांचक दृश्य देखे गए। (एजेंसी)