1/6
नवभारत लाइफस्टाइल डेस्क: देशभर में आज 23 अप्रैल को भगवान हनुमान जी का जन्मोत्सव (Hanuman Jayanti 2024 ) मनाया जा रहा है इस दिन विधि-विधान के साथ भगवान हनुमान जी का पूजन किया जाता है। इस दिन को खास बनाने के लिए आज आप अपनों को खूबसूरत शुभकामना संदेश भेजकर दिन को सेलिब्रेट कर सकते है।
नवभारत लाइफस्टाइल डेस्क: देशभर में आज 23 अप्रैल को भगवान हनुमान जी का जन्मोत्सव (Hanuman Jayanti 2024 ) मनाया जा रहा है इस दिन विधि-विधान के साथ भगवान हनुमान जी का पूजन किया जाता है। इस दिन को खास बनाने के लिए आज आप अपनों को खूबसूरत शुभकामना संदेश भेजकर दिन को सेलिब्रेट कर सकते है।
2/6
भगवान हनुमान जी का जन्मोत्सव सनातन धर्म में एक हिन्दू पर्व है जो यह चैत्र माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस दिन हनुमानजी का जन्म हुआ था, भगवान हनुमान जी को कलयुग में सबसे प्रभावशाली देवताओं में से एक माना जाता है।
भगवान हनुमान जी का जन्मोत्सव सनातन धर्म में एक हिन्दू पर्व है जो यह चैत्र माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस दिन हनुमानजी का जन्म हुआ था, भगवान हनुमान जी को कलयुग में सबसे प्रभावशाली देवताओं में से एक माना जाता है।
3/6
हनुमान जन्मोत्सव को लोग हनुमान मन्दिर में दर्शन हेतु जाते है। कुछ लोग व्रत भी धारण कर बड़ी उत्सुकता और ऊर्जा के साथ समर्पित होकर इनकी पूजा करते है। इस दिन भगवान हनुमान जी की  मूर्तियों पर सिन्दूर और चाँदी का वर्क चढ़ाने की परम्परा होती है।
हनुमान जन्मोत्सव को लोग हनुमान मन्दिर में दर्शन हेतु जाते है। कुछ लोग व्रत भी धारण कर बड़ी उत्सुकता और ऊर्जा के साथ समर्पित होकर इनकी पूजा करते है। इस दिन भगवान हनुमान जी की मूर्तियों पर सिन्दूर और चाँदी का वर्क चढ़ाने की परम्परा होती है।
4/6
यह कहा जाता है  राम की लम्बी आयु के लिए एक बार हनुमान जी अपने पूरे शरीर पर सिन्दूर चढ़ा लिया था और इसी कारण उन्हें और उनके भक्तो को सिन्दूर चढ़ाना बहुत अच्छा लगता है जिसे चोला कहते है।
यह कहा जाता है राम की लम्बी आयु के लिए एक बार हनुमान जी अपने पूरे शरीर पर सिन्दूर चढ़ा लिया था और इसी कारण उन्हें और उनके भक्तो को सिन्दूर चढ़ाना बहुत अच्छा लगता है जिसे चोला कहते है।
5/6
संध्या के समय दक्षिण मुखी हनुमान मूर्ति के सामने शुद्ध होकर मन्त्र जाप करने को अत्यन्त महत्त्व दिया जाता है। हनुमान जन्मोत्सव रामचरितमानस के सुन्दरकाण्ड पाठ को पढना भी हनुमानजी को प्रसन्न करता है।
संध्या के समय दक्षिण मुखी हनुमान मूर्ति के सामने शुद्ध होकर मन्त्र जाप करने को अत्यन्त महत्त्व दिया जाता है। हनुमान जन्मोत्सव रामचरितमानस के सुन्दरकाण्ड पाठ को पढना भी हनुमानजी को प्रसन्न करता है।
6/6
 इस दिन व्रत करने के अलावा बूंदी, हलवा, लड्डू जैसी मीठी चीजों का भोग लगाने से हनुमान की कृपा हमेशा अपने भक्तों पर बनी रहती है।
इस दिन व्रत करने के अलावा बूंदी, हलवा, लड्डू जैसी मीठी चीजों का भोग लगाने से हनुमान की कृपा हमेशा अपने भक्तों पर बनी रहती है।