File Photo
File Photo

    इस साल का पहला चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) बुद्ध पूर्णिमा (Buddha Purnima) के दिन लगने वाला है, जो कि 16 मई को है। इस दिन ही वैशाख मास की पूर्णिमा (Vaishakh Purnima) भी है। इस साल का पहला चंद्र ग्रहण पूर्ण ग्रहण होगा। इस ग्रहण की सबसे ख़ास बता यह है कि, इस दिन दो योग बनने वाले हैं, जो भी शुभ माने जाते हैं। इस दिन पवित्र नदियों में स्नान व दान करने का विशेष महत्व होता है।

    चंद्रग्रहण पर खास योग-

    हिंदू पंचांग की मानें तो साल का पहला चंद्रग्रहण 16 मई को लगेगा। इस दिन सुबह 06 बजकर 16 मिनट तक वरियान योग रहेगा। ऐसी मान्यता है कि इस योग में किया गया कार्य सफल होता है। वहीं 16 मई की सुबह से अगले दिन रात करीब ढाई बजे तक परिघ योग रहेगा। इस योग की मान्यता है कि इसमें शत्रुओं पर विजय प्राप्त की जा सकती है। 

    ग्रहण को नहीं माना जाता शुभ-

    ऐसा माना जाता है कि, ग्रहण के दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं करना चाहिए। ग्रहण काल में मंदिर के कपाट भी बंद कर दिए जाते हैं। हालांकि, साल के पहले सूर्यग्रहण की तरह साल का पहला चंद्र ग्रहण भी भारत में नजर नहीं आएगा। जिसकी वजह से देश में सूतक काल मान्य नहीं होगा। लेकिन, यह ग्रहण मेष, धनु और सिंह राशि के लिए बहुत ख़ास होने वाला है। वहीँ वरियान और परिघ योग की वजह से लोगों को लाभ भी हो सकते हैं।