File Photo
File Photo

    -सीमा कुमारी

    सावन का पावन महीना 25 जुलाई यानी रविवार से शुरू हो चुका है। और यह महीना 22 अगस्त यानी ‘रक्षा बंधन’ के दिन समाप्त होगा। धार्मिक दृष्टि से सावन महीना का बड़ा महत्व होता है।  शिव भक्तों के लिए सावन महीना सभी महीनों में सबसे पवित्र महीना माना जाता है।

    भगवान शिव (Lord Shiva) को समर्पित यह महीना शिव भक्तों की उपासना के लिए बहुत ही शुभ एवं मनवांछित फल प्रदान करने वाला माना जाता है।  ज्योतिषों के मुताबिक, विभिन्न राशि के व्यक्ति को अपने राशि के अनुसार भोलेनाथ की पूजा करने से कुंडली में मौजूद ग्रहों के नकारात्मक प्रभावों को कम किया जा सकता है। आइए जानें इस बारे में-

    कर्क राशि:

    सावन के महीने में कर्क राशि के जातक शिवलिंग का अभिषेक भांग मिश्रित दूध से करें। इसके साथ ही ‘रुद्राष्टक’ का पाठ भी करें। ऐसा करने से भगवान शिव की असीम कृपा आप पर सदैव बनी रह सकती है।

    सिंह राशि:

    सावन के महीने में सिंह राशि के जातक भगवान शिव को लाल रंग के फूल चढ़ाएं और ‘शिव चालीसा’ का पाठ करें। ऐसा करना आपके लिए शुभ हो सकता है।

    कन्या राशि:

    सावन के महीने में कन्या राशि के जातक भगवान शिवजी की पूजा में बेलपत्र, धतूरा, भांग आदि सामग्री शिवलिंग पर अर्पित करें।

    तुला राशि:

    सावन के महीने में तुला राशि के जातक मिश्री युक्त दूध से शिवलिंग का अभिषेक करें। साथ ही शिव के ‘सहस्रनाम’ का जाप भी करें।  

    मेष राशि:

    सावन के महीने में मेष राशि के जातक भगवान भोलेनाथ को बेलपत्र, धतूरा,भांग अर्पित करें। ऐसा करना काफी शुभ माना जाता है। पूजा के समय ‘नागेश्वराय नम:’ मंत्र का जाप भी किया जा सकता है।

    वृषभ राशि:

    सावन के महीने में वृषभ राशि के जातक भगवान शिव की पूजा चमेली के फूलों से कर सकते हैं।   इसके साथ ही ‘रुद्राष्टक’ का पाठ भी करें।

    मिथुन राशि:

    सावन के महीने में मिथुन राशि के जातक भगवान शिव को धतूरा, भांग अर्पित करें. इसके साथ ही ‘ॐ नम: शिवाय’ का जाप करें।

    वृश्चिक राशि:

    सावन के महीने में वृश्चिक राशि के जातक भगवान शिव की गुलाब के फूलों व बिल्वपत्र की जड़ से पूजा करें।  साथ ही प्रतिदिन ‘रूद्राष्टक’ का पाठ करें।  

    धनु राशि:

    सावन के महीने में धनु राशि के जातक प्रात:काल उठकर भगवान शिव की पूजा पीले रंग के फूलों से करें। प्रसाद के रूप में भगवान शिव को खीर का भोग लगाएं।

    मकर राशि:

    सावन के महीने में मकर राशि के जातक धतूरा, भांग, अष्टगंध आदि से भगवान शिव की पूजा करें. इसके साथ ही ‘पार्वतीनाथाय नम:’ का जाप भी करें।

    कुंभ राशि:

    सावन के महीने में मकर राशि के जातक गन्ने के रस से शिवलिंग का अभिषेक करें। इसके साथ ही ‘शिवाष्टक’ का पाठ करें।

    मीन राशि:

    सावन के महीने में मीन राशि के जातक मीन जातकों को पंचामृत, दही, दूध एवं पीले रंग के फूल शिवलिंग पर अर्पित करने चाहिए। साथ ही चंदन की माला से पंचाक्षरी मंत्र ‘नम: शिवाय’ का जाप 108 बार करना चाहिए।