पितृपक्ष में ‘इस’ रंग के चढ़ाएं फूल, ‘इन’ वस्तुओं का करें दान, मिलेगा पितरों का शुभाशीष

Loading

सीमा कुमारी

नवभारत डिजिटल टीम: सनातन धर्म में ‘पितृ पक्ष’ (Pitru Paksha) का विशेष महत्व है। हिंदू परंपरा में पितृ पक्ष, अपने पितरों को याद करने का एक प्रमुख अवसर है। इस साल ‘पितृ पक्ष’ (Pitru Paksha 2023) 29 सितंबर, शुक्रवार से शुरू हो रहा है। पितृ पक्ष में कुछ विशेष सामग्री खरीदना बहुत शुभ माना जाता है। शास्त्रों में मान्यता है कि इस सामग्री के खरीदारी से पितर खुश होते है। यदि आप अपने जीवन में सुख, समृद्धि और शांति चाहते हैं तो पितृ पक्ष में कुछ विशेष सामग्री की खरीदारी अवश्य करें। आइए जानें इन चीजों के बारे में-

ज्योतिष-शास्त्रों के अनुसार, सफेद फूल पितरों को अति प्रिय है। पितृ पक्ष में सफेद फूल खरीदकर, पितरों को अर्पित करना चाहिए। इससे वे प्रसन्न होते हैं और आपके जीवन में सुख-शांति बनी रहती है।

कहते है पितृ पक्ष के दिनों में स्वयं के लिए नए वस्त्र नहीं खरीदते हैं, बल्कि पितरों के निमित्त नए वस्त्र खरीदने का विधान है, क्योंकि नए वस्त्रों के दान से पितर तृप्त होते है। नए वस्त्र खरीदकर पितरों को ध्यान करके किसी ब्राह्मण को दान कर दें। इससे पितर खुश होकर आशीष देते है। इससे जीवन में सुख और शांति आती है।

पितृ पक्ष के दौरान आप काला तिल खरीद सकते हैं। पितरों का श्राद्ध और तर्पण करते समय काले तिल का उपयोग किया जाता हैं। काला तिल भगवान विष्णु को प्रिय है। पितृ पक्ष में काले तिल का दान करने से पितृ प्रसन्न होते हैं और अपने वंश को सुखी जीवन का आशीर्वाद देते हैं।

शास्त्रों में विधान है कि, पितृपक्ष में पितरों को चमेली का तेल अर्पित करना चाहिए। उससे वे तृप्त होते हैं। यदि आप पितृ पक्ष में चमेली का तेल खरीदते हैं और उसे पितरों को दान कर देते हैं तो आपका जीवन खुशहाल रहेगा। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, जौ को सोने का दर्जा दिया गया है। पितृ पक्ष के दौरान जौ खरीदने और फिर उसका दान करना शुभ माना जाता है। जौ का दान धन में वृद्धि लाता है।