Lunar eclipse

    नई दिल्ली: ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक हर एक पूर्णिमा का अलग महत्व होता है और उसकी घटनाएं भी अलग होती है। जी हां वैशाख मास की पूर्णिमा तिथि को यानी ‘वैशाख पूर्णिमा’ को इस साल 2022 का पहला चंद्रग्रहण लगेगा। आपको बता दें कि इस साल का पहला चंद्रग्रहण 16 मई 2022 को लगेगा और यह एक पूर्ण चंद्रग्रहण होगा। जानकारी के लिए बता दें कि साल 2022 में लगने वाले दोनों चंद्रग्रहण ही पूर्ण होंगे। 16 मई 2022 को लगने वाला साल का पहला चंद्रग्रहण विश्व के कई देशों में दिखाई देगा। आइए जानते है साल के पहले चंद्रग्रहण से जुड़ी कुछ खास बातें… 

    ये है चंद्रग्रहण का समय

    बता दें कि इस चंद्रग्रहण का असर भारत में कम पड़ेगा। दरअसल काशी के ज्योतिषाचार्य पं. श्रीराम द्विवेदी के अनुसार, साल का पहला चंद्रग्रहण 16 मई 2022 दिन सोमवार को सुबह 08 बजकर 59 मिनट पर लगेगा और सुबह 10 बजकर 23 मिनट पर समाप्त होगा। भारत में इस ग्रहण की दृश्यता शून्य होगी, इसलिए यहां पर सूतक काल मान्य नहीं होगा।

    यहां दिखेगा साल का पहला चंद्रग्रहण 

    आपको बता दें कि साल 2022 का पहला चंद्रग्रहण दक्षिणी-पश्चिमी यूरोप, दक्षिणी-पश्चिमी एशिया, अफ्रीका, उत्तरी अमेरिका के ज्यादातर हिस्सों, दक्षिण अमेरिका, प्रशांत महासागर, हिंद महासागर, अटलांटिक और अंटार्कटिका में भी दिखाई देगा। भारत में यह चंद्रग्रहण नजर नहीं आएगा, जिसके कारण देश में सूतक काल मान्य नहीं होगा।

    इस दिन लगेगा साल का दूसरा चंद्रग्रहण

    आपको बता दें कि इस साल दो चंद्रग्रहण है, पहला जो अब 16 मई को लगने वाला है और साल का दूसरा चंद्रग्रहण 8 नवंबर 2022 को लगेगा। जब पृथ्वी पर छाया चंद्रमा पर आती है तो चंद्रग्रहण लगता है।

    वैशाख पूर्णिमा 2022 स्नान

    दान-उदया तिथि के अनुसार, स्नान दान की वैशाख पूर्णिमा 16 मई को है। चंद्रग्रहण के समापन के बाद पूर्णिमा का स्नान और दान किया जा सकेगा।