bank

इंदौर. सरकार की कथित तौर पर श्रमिक विरोधी नीतियों के खिलाफ बृहस्पतिवार को एक दिन की हड़ताल के दौरान मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में 10 सरकारी बैंकों की 7,300 बैंक शाखाओं में कामकाज ठप रहा। इससे अलग-अलग बैंकिंग सेवाएं प्रभावित हुईं। बैंक कर्मचारियों के एक संगठन ने यह दावा किया।

मध्य प्रदेश बैंक एम्पलॉइज एसोसिएशन (एमपीबीईए) के सचिव एम के शुक्ला ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘राज्य के 10 सरकारी बैंकों की 7,300 शाखाओं के करीब 18,000 अधिकारी, कर्मचारी हड़ताल में शामिल हुए।” उन्होंने बताया कि हड़ताल से इन बैंक शाखाओं में धन जमा करने और निकालने के साथ चेक निपटान, सावधि जमा (एफडी) योजनाओं का नवीनीकरण, सरकारी खजाने से जुड़े काम और अन्य नियमित कार्य प्रभावित हुए।

शुक्ला ने बताया कि सरकारी क्षेत्र के भारतीय स्टेट बैंक और इंडियन ओवरसीज बैंक के अधिकारी, कर्मचारी हड़ताल में शामिल नहीं हुए। उन्होंने यह भी बताया कि हड़ताली बैंक कर्मचारियों ने कोविड-19 के प्रकोप के मद्देनजर रैली नहीं निकाली और अपनी शाखाओं के बाहर तख्तियां लहराते हुए सरकार की कथित तौर पर श्रमिक विरोधी नीतियों को लेकर विरोध जताया।