vaccination
Representative Image

    भोपाल: मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले का महगवाँ परियट गांव शत-प्रतिशत कोरोना टीकाकरण वाला गांव बन गया है। जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। अधिकारी ने बताया कि महगवां परियट ग्राम पंचायत में मतदाता सूची में दर्ज 1,002 व्यक्तियों में से 956 पात्र व्यक्तियों को विशेष अभियान चलाकर कोविड-19 का टीका लगाया गया। शेष 46 व्यक्तियों में कोरोना वायरस संक्रमण से हाल ही में ठीक हुए लोग, गर्भवती महिलाएं और गांव से बाहर रहने वाले लोग शामिल हैं। 

    उन्होंने बताया कि गांव के सभी लोगों को टीके की पहली खुराक दी जा चुकी है जबकि कई लोगों को दूसरी खुराक भी मिल चुकी है। उन्होंने बताया कि कोरोना के टीके के प्रति फैली तमाम भ्रांतियों को दरकिनार करते हुए 102 वर्षीय महिला तिज्जो बाई कोल और सौ वर्षीय त्रिवेणी बाई ने खुद रूचि लेकर टीका लगवाया। अधिकारी ने बताया कि गांव में सौ फीसदी टीकाकरण करने के लिए स्वास्थ्य विभाग के छह अलग-अलग दल बनाए गए थे। 

    टीकाकरण करने वाला एक दल बीमार, बुजुर्ग और दिव्यांगों के घर-घर जाकर टीका लगा रहा था। पनागर से विधायक सुशील तिवारी इंदु ने महगवाँ परियट गांव में शत-प्रतिशत टीकाकरण होने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए ग्रामवासियों और टीकाकरण के कार्य में लगे सभी दलों को बधाई दी। उन्होंने विधायक निधि से ग्राम पंचायत को विकास कार्यों के लिए पांच लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि का चेक प्रदान किया। 

    विधायक ने टीकाकरण कराने वाली 102 वर्षीय तिज्जोबाई और सौ वर्षीय त्रिवेणी बाई को टीकाकरण के प्रति अभूतपूर्व उत्साह दिखाने के लिए 5-5 हजार रुपये की पुरस्कार राशि का चेक प्रदान किया। अनुमंडल अधिकारी एन एस अरजरिया ने शत-प्रतिशत टीकाकरण कार्य में ग्रामीणों के सहयोग की सराहना की। 

    उन्होंने बताया कि गांव में लोग खुद टीका लगवाने टीकाकरण केन्द्र आ रहे थे, साथ ही बीमार, बुजुर्ग व दिव्यांगों की जानकारी भी दे रहे थे ताकि उन्हें घर जाकर टीका लगाया जा सके। (एजेंसी)