Shivraj and Kamal Nath

    भोपाल. मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष (Madhya Pradesh Congress President) एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former CM Kamal Nath) ने बृहस्पतिवार को प्रदेश की भाजपा सरकार (BJP Government) पर कोविड-19 (COVID-19) का ठीक से प्रबंधन नहीं करने का आरोप लगाया और इसे प्रशासन की तरफ से की गई ‘आपराधिक लापरवाही’ करार दिया । कमलनाथ ने यहां संवाददाताओं से ऑनलाइन चर्चा करते हुए आरोप लगाया कि मध्य प्रदेश में मौत के आंकड़ों को दबाने और छिपाने का प्रयास किया जा रहा है, जिसे राज्य सरकार ने झूठा बताया है।

    कमलनाथ ने दावा किया कि प्रदेश के अस्पतालों में इंजेक्शन, दवाई, ऑक्सीजन, एंबुलेंस, वेंटिलेटर एवं बिस्तर पर्याप्त मात्रा में नहीं हैं और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कह रहे हैं कि सब कुछ पर्याप्त है। उन्होंने कहा कि इस सरकार द्वारा लोगों को गुमराह किया जा रहा है। सरकार पर मीडिया प्रबंधन करने का आरोप लगाते हुए कमलनाथ ने कहा कि यह महामारी ‘मीडिया एवं हेडलाइन’ में प्रबंधन करने से समाप्त नहीं होगी।

    कमलनाथ ने कहा, ‘‘मध्य प्रदेश सरकार ने दूसरी लहर के लिए कोई प्रबंध नहीं किया। हमारे स्कूल-कॉलेज बंद हो गये, परीक्षायें निरस्त हो गयीं, लेकिन राजनीति चलती रही, रैली चलती रही।” उन्होंने कहा, ‘‘आज ये हालात हैं कि प्रदेश में जिस संख्या में लोगों की (कोरोना से) मृत्यु हो रही है, उसको दबाने का और छिपाने का प्रयास किया जा रहा है।”

    उन्होंने सवाल किया कि श्मशान घाट एवं कब्रिस्तान में कितनी लाशें आ रही है और कितना छाप रहे हैं। कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘शिवराज सिंह जी मुझे पूरे प्रदेश में एक अस्पताल का नाम बता दें जहां इंजेक्शन, दवाई, ऑक्सीजन, एंबुलेंस, वेंटिलेटर एवं बिस्तर पर्याप्त मात्रा में हैं।”

    उन्होंने आगे कहा, ‘‘और लापरवाही जो है ये एक आपराधिक लापरवाही है। मैं तो इसे आपराधिक लापरवाही कहता हूं।” कमलनाथ ने बताया कि मेरे (कांग्रेस) जिला अध्यक्षों ने कहा कि यह महामारी गांव-गांव में पहुंच रही है। लेकिन जांच नहीं कर रहे हैं और जहां यदि जांच हो भी रही है, तो सात दिन बाद रिपोर्ट आ रही है। उन्होंने कहा कि मुझे प्रदेश के सभी लोगों की चिंता है कि अगले 10 दिन में क्या हालात होने वाले हैं।

    उन्होंने कहा, ‘‘ये कह रहे हैं कि कांग्रेस वाले ऑक्सीजन एवं रेमडेसिविर लाएं। ये क्या मजाक है? आज कांग्रेस कार्यकर्ता समाजसेवक बनकर जनता के बीच में हैं।” कमलनाथ ने बताया,‘‘भाजपा के लोग तो अपना मुंह दिखाने लायक नहीं रहे। वे (भाजपा नेता) जनता के बीच नहीं जा सकते। जनता उनको मारने को दौड़ेगी। ये हालात हैं।”

    उन्होंने दावा किया, ‘‘अगर भाजपा के लोग कुछ कर रहे हैं तो जो रेमडेसिविर इंजेक्शन जिलों में जा रहा है, उसकी कालाबाजारी कर रहे हैं। एक मरीज से मुझसे कहा कि उसने दो रेमडेसिविर इंजेक्शन 40,000 रूपये में खरीदे हैं।”

    कमलनाथ ने कहा, ‘‘मैं (मुख्यमंत्री) शिवराज सिंह जी से प्रार्थना करता हूं कि वे हेलीकॉप्टर लें और जिले-जिले में जायें। जनता की बात सुनें और अपने नेताओं एवं अपने कार्यकर्ताओं की बात न सुनें। आधे घंटे के लिए हरेक जिले में जायें और जनता की बात सुनें, तब उनको सच्चाई समझ आ जाएगी। ये सच्चाई समझनी बहुत जरूरी है।”

    उन्होंने कहा, ‘‘लॉकडाउन की वजह से हमारा छोटा व्यापारी, मजदूर किसान एवं सब लोग त्रस्त हैं और ये आपराधिक लापरवाही के कारण हुआ है। ये तो हत्या है। मैं यही कहना चाहता हूं।” लोगों से कोविड-19 का टीका लगवाने की अपील करते हुए कमलनाथ ने कहा कि टीका लगवाना ही इसका जवाब है। हालांकि, मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 से हुई मौतों को छिपाया नहीं जा रहा है। (एजेंसी)