2 to 20 rupees corona cess on alcohol smells: Dushyant Chautala

भोपाल: मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former CM Kamal Nath) द्वारा सरकार में मंत्री और डबरा विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी इमरती देवी (Imarti Devi) पर किए विवादित टिप्पणी  प्रदेश में राजनीति गरमाई हुई है. भाजपा (BJP) इसको लेकर कांग्रेस (Congress) और कमलनाथ पर हमलावर है. वहीं विवाद बढ़ते देख अपनी बैकफुट पर पहुंचे कमलनाथ नेसफाई देते हुए  कहा, ” मुझे नाम नहीं याद आ रहा था इसलिए मैंने आइटम कहा.”

एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, “मैंने कुछ कहा, यह किसी का अपमान करने के लिए नहीं था … मुझे सिर्फ (व्यक्ति का) नाम याद नहीं था … यह सूची (उसके हाथ में) आइटम नंबर 1, आइटम नंबर 2 कहती है, क्या यह अपमान है … शिवराज बहाने ढूंढ रहे हैं, कमलनाथ किसी का अपमान नहीं करता, वे केवल आपको सच्चाई से अवगत करता है.”

ज्ञात हो कि रविवार को डबरा विधानसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी के प्रचार के लिए पहुंचे कमलनाथ ने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा, “सुरेंद्र राजेश हमारे उम्मीदवार हैं, सरल स्वभाव के सीधे साधे हैं.हमारा उम्मीदवार उसके जैसा नहीं है … उसका नाम क्या है? (लोग इमरती देवी, जो पूर्व राज्य मंत्री हैं चिल्लाते हैं) आप उन्हें बेहतर जानते हैं और मुझे पहले ही चेतावनी देनी चाहिए. यह क्या आइटम है.” वहीं कांग्रेस अन्य नेता अरुण सिंह ने उन्हें जलेबी कर कर संबोधित किया.

बयान के विरोध में भाजपा ने किया मौन आंदोलन 

इमरती देवी पर किए आपत्तिजनक बयान को लेकर भाजपा कमलनाथ और कांग्रेस कांग्रेस पर हमलावर है. बयान के विरोध को लेकर भाजपा ने प्रदेश भर में मौन आंदोलन किया. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) और गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने राजधानी भोपाल में मौन आंदोलन किया. वहीं इंदौर में ज्योतिरादित्य सिंधिया और ग्वालियर में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वी डी शर्मा ने कार्यकर्ताओं के साथ मौन रह कर बयान का विरोध किया.

राष्ट्रीय महिला आयोग ने कार्यवाही के लिए भेजा मामला

राष्ट्रीय महिला आयोग ने मध्यप्रदेश विधानसभा मेंनेता प्रतिपक्ष कमलनाथ द्वारा दिए गए गैर जिम्मेदाराना और अपमानजनक बयान की कड़ी निंदाकी है. आयोग ने उनके द्वारा की गई टिप्पणी पर उनसे स्पष्टीकरण मांगा है. इसी के साथ कार्यवाही करने के लिए चुनाव आयोग को मामला भेज दिया है.

यह भाजपा की नौटंकी 

कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने कहा, “मुझे नहीं पता कि कमलनाथ जी ने किस संदर्भ में कहा है. मैं यह भी नहीं जानता कि ‘नटखट’ ‘नौटंकी’ भाजपा आज कर रही है…. मध्य प्रदेश भाजपा के किसी भी नेता ने हाथरस घटना पर कुछ नहीं कहा.”

गांधी परिवार के रसोई में आग जलाने वालो पर कार्यवाही नहीं होगी 

कमलनाथ के बयान पर बोलते हुए केंद्रीय महिला विकास मंत्री स्मृति ईरानी (Smruti Irani) ने कहा, “मुझे कोई औचित्य नहीं मिल सकता है कि कमलनाथ जी (पूर्व सांसद सीएम) एक महिला नेता के खिलाफ इस तरह के अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल कर सकते हैं. मैं यह नहीं समझ पा रही कि गांधी परिवार इस पर चुप क्यों है.”

उन्होंने आगे कहा, “मुझे नहीं लगता कि गांधी परिवार कमलनाथ के खिलाफ एक महिला के खिलाफ अपमानजनक बयान देने के लिए कार्रवाई करेगा. चाहे वह कमलनाथ हों या दिग्विजय सिंह, ये वे लोग हैं जो गांधी परिवार की रसोई में आग जलाते रहते हैं.”