Central government busy in toppling, delay in implementing down: Kamal Nath

भोपाल: भाजपा (BJP) नेता और मंत्री इमारती देवी (Imarti Devi) पर कांग्रेस नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ (Kamal Nath) के विवादित टिप्पणी को लिए जवाब में केंद्रीय चुनाव आयोग (Election Commission Of India) ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. सोमवार को आयोग ने कहा, “सार्वजनिक बयानबाजी करते समय और उन्हें आदर्श आचार संहिता की अवधि के दौरान आइटम इजैसे शब्द या बयान का उपयोग नहीं करना चाहिए.”

ज्ञात हो कि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने सरकार में मंत्री इमारती देवी को लेकर विवादित बयान दिया था, उन्होंने डबरा में आयोजित एक सभा को संबोधित करते हुए इमरती देवी को आईटम कह दिया था. कमलनाथ के इस बयान के बाद बड़ा बवाल मचा था. भाजपा इसको लेकर चुनाव आयोग में काम्लानाथ की शिकायत दर्ज कराई थी. 

विजयवर्गीय और सज्जन वर्मा को आयोग का नोटिस 

केंद्रीय चुनाव आयोग ने कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री सज्जन वर्मा और भाजपा महासचिव कैलास विजयवर्गीय को विवादित बयान को लेकर नोटिस जारी किया है. आयोग ने सज्जन वर्मा को आदर्श संहिता उल्लंघन करने के लिए नोटिस जारी किया है. वहीं विजयवर्गीय को 14 अक्टूबर को डबरा विधानसभा सीट में आयोजित रैली में कांग्रेस नेताओं कमलनाथ और दिग्विजय सिंह पर किए ‘चुन्नू-मुन्नू’ टिप्पणी पर नोटिस जारी किया है. इसी के साथ उन्हें 48 घंटे के भीतर जवाब देने के लिए कहा है.

जवाब नहीं देने पर कार्यवाही 

आयोग ने दोनों नेताओं को तय समय पर जवाब देने को कहा है. अगर इस दौरान नेताओं ने जवाब नही दिया तो उनपर कार्यवाही करने की चेतवानी भी आयोग ने दी है.

ज्ञात हो कि मध्यप्रदेश विधानसभा की 28 सीटों पर उप चुनाव हो रहे हैं. जहां तीन नवंबर को इन सीटों पर मतदान होगा, वहीं 10 नवंबर को परिणाम आएंगे. चुनाव में जीत के लिए भाजपा और कांग्रेस ने अपनी पूरी ताकत झोक दी है. यह चुनाव दोनों दलों के लिए नाक का सवाल बन गया है. भाजपा को जहां सरकार बचाने के लिए नौ सीटों पर जीत की जरुरत है, वहीं कांग्रेस को पुनः सरकार में आने के लिए सभी 28 सीट जितनी होगी.