shivraj singh chauhan

उमरिया (मप्र). मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य की पूर्ववर्ती कमलनाथ सरकार के कांग्रेस को कथित तौर पर 106 करोड़ रुपए देने की खबरों के मद्देनजर मंगलवार को कहा कि सरकार इन आरोपों के संबंध में कानूनी कार्रवाई करेगी।

मुख्यमंत्री ने यहां संवाददाताओं से कहा, “देखिये हम पहले ही कह रहे थे कि कमलनाथ जी की सरकार ने वल्लभ भवन (मध्यप्रदेश मंत्रालय), जो जनता की सेवा और विकास का मंदिर है, को दलालों की मंडी के रुप में परिवर्तित कर दिया था और अब जो तथ्य निकल कर सामने आ रहे हैं उनके कारण मन में तकलीफ भी है। जो कुछ हुआ है वह जनता के सामने है। इसलिये इन गड़बड़ियों पर जो भी वैधानिक कार्रवाई की जा सकती है, वो की जायेगी, लेकिन यह स्पष्ट है कि जो हम कहते थे, वह सच था। कांग्रेस शासन के 15 महीनों में मध्यप्रदेश को लूटा गया।”

मुख्यमंत्री यहां बांधवगढ़ बाघ अभयारण्य में वन विभाग के अधिकारियों के साथ विभिन्न विकास कार्यों पर बैठक के लिये आये थे। उन्होंने पूर्ववर्ती कमलनाथ सरकार के दौरान 106 करोड़ रुपये के कथित घोटाले के बारे में एक टीवी चैनल की खबर पर एक पत्रकार के सवाल का उत्तर देते समय यह बयान दिया।

टीवी चैनल ने आयकर विभाग द्वारा तैयार किये गये एक डोजियर के हवाले से खबर में आरोप लगाया कि तत्कालीन मुख्यमंत्री ने विभिन्न सरकारी विभागों को कांग्रेस पार्टी के लिये धन इकठ्ठा करने का लक्ष्य दिया था और उसने दावा किया कि इस धन को कमलनाथ के बिचौलियों के माध्यम से दिल्ली में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के मुख्यालय में भेजा गया था। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता नरेन्द्र सिंह सलूजा ने कहा, “हम किसी भी जांच से डरते नहीं है।”