Shivraj and Kamal Nath

    मैहर (मप्र): कोरोना वायरस के संबंध में बयान देकर कथित तौर पर लोगों के बीच भय पैदा करने को लेकर प्राथमिकी दर्ज किये जाने के कुछ दिन बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शुक्रवार को एकबार फिर राज्य सरकार पर कोविड-19 से मौत के वास्तविक आंकड़ों को छिपाने का आरोप लगाया। 

    कमलनाथ ने मैहर में मीडिया से चर्चा करते हुए कहा, ‘‘आज इस कोरोना महामारी में मध्य प्रदेश में आँकड़े दबाने-छुपाने का काम किया जा रहा है।” उन्होंने कहा, ‘‘मैंने पूर्व में कहा था कि कोरोना की इस दूसरी लहर में प्रदेश में 1.27 लाख लोगों के शव मुक्तिधाम-कब्रिस्तान पहुंचे हैं। लेकिन आज मैं प्राप्त जानकारी के आधार पर कह रहा हूँ कि तकरीबन डेढ़ लाख शव मुक्तिधाम और कब्रिस्तान इस दूसरी लहर में पहुंचे हैं। मैं मानता हूं कि इसमें से 80 प्रतिशत शव कोरोना पीड़ितों के थे।” 

    कमलनाथ ने कहा, ‘‘वहीं, सरकार के आंकड़े आज भी हजारों में ही हैं।” हालांकि, मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग की ओर से शुक्रवार को जारी बुलेटिन के अनुसार राज्य में अब तक कोविड-19 से मरने वालों की संख्या मात्र 7,891 है।

    उन्होंने कहा, ‘‘जब मैं यह मांग करता हूँ तो मुझे देशद्रोही कहा जाता है और इनसे सवाल पूछो तो कहते हैं कि ये तो लाशों पर राजनीति कर रहे हैं। जब मैं सच्चाई बोलता हूं तो मेरे खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करवा देते हैं।” 

    उन्होंने कहा, ‘‘मैंने कभी नहीं कहा कि कोविड का नाम इंडियन कोविड वैरियंट है। यह तो आज विश्व के कई देश कह रहे हैं। उच्चतम न्यायालय में तो केंद्र सरकार ने ख़ुद अपने शपथ पत्र में यह लिखा है। इसका प्रमाण भी है।” केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘‘मोदी सरकार के कारण भारत विश्व में महान तो नहीं बन पाया, लेकिन विश्व में आज इनकी नीतियों, नकारापन व लापरवाही से देश बदनाम जरूर हो गया।” उनके इस बयान को बहुत दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश की सत्ता जाने के बाद लगता है कमलनाथ ने अपना मानसिक संतुलन खो दिया है। 

    कमलनाथ के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया, ‘‘सत्ता जाने के बाद लगता है कमलनाथ जी ने अपना मानसिक संतुलन खो दिया है। कांग्रेस के मध्य प्रदेश के अध्यक्ष कह रहे हैं कि भारत बदनाम है। क्या (कांग्रेस अध्यक्ष) सोनिया गांधी कमलनाथ के इस बयान से सहमत हैं? क्या कांग्रेस को लज्जा और शर्म नहीं आती?” 

    उन्होंने कहा, ‘‘अरे कमलनाथ जी, मैडम सोनिया गांधी जी, भारत अत्यंत प्राचीन और महान राष्ट्र है। इसकी गौरव गाथाएँ सारे विश्व ने गायी हैं। इसी धरती पर जन्म लिया कमलनाथ ने और आज कह रहे हैं कि भारत बदनाम है।”

    चौहान ने कहा,‘‘क्या अपने देश को बदनाम कहना, देश के साथ गद्दारी नहीं है?” उन्होंने सोनिया से मौन तोड़ने की अपील की और कमलनाथ के इस बयान पर उन्हें पार्टी से बाहर करने की मांग की। (एजेंसी)