News of corona virus in poultry farms of Madhya Pradesh completely misleading and baseless: Government

भोपाल. मध्यप्रदेश के पशुपालन विभाग ने सोशल मीडिया में प्रदेश के कुछ मुर्गीपालन फार्मों में कोरोना वायरस संक्रमण फैलने की वायरल हुई खबर को पूरी तरह से भ्रामक एवं आधारहीन बताया है। इसके अलावा, सरकार ने यह भी स्पष्ट किया है कि कुक्कुट उत्पादों का सेवन पूरी तरह से सुरक्षित है। मध्यप्रदेश जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया, ”कोरोना वायरस के संक्रमण से मुर्गीपालन फार्मों एवं कुक्कुट उत्पादनों को किसी भी प्रकार का कोई खतरा नहीं है। कुक्कुट उत्पादों का सेवन पूरी तरह से सुरक्षित है।”

उन्होंने कहा, ”संचालक पशुपालन आर. के. रोकड़े ने इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आदेश का हवाला देते हुए मुर्गीपालन फार्म में कोरोना वायरस की वायरल खबर का खंडन किया।” रोकड़े ने कहा कि पशुपालन एवं डेयरी मंत्रालय भारत सरकार के संयुक्त सचिव द्वारा इस संबंध में पशुपालन विभाग के सचिवों को पत्र भी लिखा है। उन्होंने कहा, ”मुर्गीपालन में कोरोना वायरस की वायरल हो रही खबर पूरी तरह भ्रामक और आधारहीन है।”

रोकड़े ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा अपने पत्र में कुक्कुट का उपयोग करने अथवा मुर्गीपालन फार्मों को शीघ्र बंद करने के संबंध में कोई दिशा-निर्देश अथवा चेतावनी पत्र जारी नहीं किये गये हैं। उन्होंने कहा कि वायरल खबर में उल्लेखित भोपाल, ग्वालियर, देवास, इंदौर, उज्जैन, रतलाम, बड़नगर, सीहोर, बड़वानी और महू में विभाग द्वारा कुक्कुट की किसी भी प्रकार का नमूना नहीं लिया गया। रोकड़े ने कहा कि कुक्कुट उत्पादों का उपयोग पूरी तरह से सुरक्षित है इनसे अभी तक किसी भी प्रकार के कोरोना संक्रमण का कोई संकेत नहीं है।(एजेंसी)