अपने विधायकों को मंत्री नहीं बनाये जाने से नाराज भाजपा कार्यकर्ताओं का विरोध प्रदर्शन

भोपाल/सागर. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंत्रिपरिषद में अपने चहेते विधायकों को शामिल नहीं किए जाने से नाराज भाजपा के कुछ कार्यकर्ताओं ने सागर एवं भोपाल में शुक्रवार को विरोध प्रदर्शन किये। पिछले तीन बार से सागर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक शैलेन्द्र जैन के समर्थकों ने अपने नेता को मंत्रिपरिषद में स्थान नहीं दिए जाने से नाराज होकर सागर के एक तालाब में कमर तक पानी में उतर कर जल सत्याग्रह किया। वहीं, सागर जिले के ही नरयावाली विधानसभा क्षेत्र के विधायक प्रदीप लारिया के समर्थकों ने अपने पसंदीदा विधायक को मंत्री बनाने की मांग को लेकर भोपाल स्थित मध्य प्रदेश भाजपा मुख्यालय में प्रदर्शन किया।

पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लारिया के समर्थकों ने भोपाल में पार्टी मुख्यालय में प्रदर्शन किया और नारे लगाए। सागर से मिली रिपोर्ट के अनुसार सागर विधानसभा क्षेत्र के भाजपा विधायक शैलेन्द्र जैन को मंत्री न बनाये जाने से उनके समर्थक तालाब में कमर तक पानी में खडे होकर जल सत्याग्रह कर रहे हैं। जल सत्याग्रह का नेतृत्व कर रहे भाजपा पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के पूर्व सदस्य मनोज रैकवार ने ‘भाषा’ से कहा, ”पार्टी ने सागर विधानसभा क्षेत्र के लोगों के साथ वादाखिलाफी की है। हर बार कार्यकर्ताओं से पार्टी प्रत्याशी को विधायक, महापौर व सासंद जिताने के लिए मंत्री देने का वादा करते रहे हैं, लेकिन एक बार भी सागर विधानसभा क्षेत्र को मंत्रिपरिषद में प्रतिनिधित्व नहीं दिया जाता है।”

उन्होंने कहा कि इस बार भी मंत्रिपरिषद में सागर के विधायक को शामिल न कर क्षेत्र की जनता के साथ छलावा किया गया है। रैकवार ने बताया कि करीब 200 प्रदर्शनकारियों के साथ जल सत्याग्रह करते हुए हमने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मांग की है कि सागर के विधायक शैलेन्द्र जैन को मंत्रिपरिषद में स्थान दिलाएं। इस सिलसिले में विधायक शैलेन्द्र जैन ने बताया कि यह कार्यकर्ताओं व क्षेत्र के लोगों की सहज प्रतिक्रिया है।

उन्होंने कहा कि पिछले तीन दशकों से भी ज्यादा समय से क्षेत्र की जनता ने भाजपा के लिए विधायक, सांसद व महापौर दिए हैं। उसके बावजूद भी संभागीय मुख्यालय का अपेक्षित विकास नहीं हुआ है। पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को जनता की इस प्रतिक्रिया पर ध्यान देना चाहिए। मालूम हो कि मध्य प्रदेश में बृहस्पतिवार को चौहान ने मंत्रिपरिषद का विस्तार कर 28 मंत्रियों को शामिल किया। इन नए मंत्रियों में 12 ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक भी शामिल हैं। (एजेंसी)