भाजपा की भीड़ भरी कलश यात्राओं के मामले में तीन प्राथमिकी दर्ज

इंदौर: मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में इंदौर (Indore)जिले के सांवेर विधानसभा क्षेत्र में महिलाओं की भारी भीड़ जुटाते हुए भाजपा  (BJP) की निकाली गयी “नर्मदा कलश यात्राओं” के दौरान कोविड-19 से बचाव के दिशा-निर्देशों के कथित उल्लंघन पर तीन प्राथमिकियां दर्ज की गयी हैं। पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) हरिनारायणाचारी मिश्रा ने बुधवार को संवाददाताओं को बताया, “सांवेर विधानसभा क्षेत्र के अलग-अलग स्थानों पर निकाली गयीं इन यात्राओं में कोविड-19 (Covid-19) की रोकथाम के लिये प्रशासन के लागू प्रतिबंधात्मक आदेशों के उल्लंघन की जानकारी मिली है।”

उन्होंने बताया कि इस जानकारी पर भारतीय दंड विधान (IPC) की धारा 188 (किसी सरकारी अधिकारी का आदेश नहीं मानना) के तहत मंगलवार रात तीन प्रकरण दर्ज किये गये हैं। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इनमें से दो मामले सांवेर पुलिस थाने में दर्ज किये गये हैं, जबकि एक प्राथमिकी चंद्रावतीगंज पुलिस थाने में पंजीकृत की गयी है।

उन्होंने बताया कि तीनों प्राथमिकियों में उन दो-दो भाजपा नेताओं को आरोपी बनाया गया है जिन्होंने सांवेर विधानसभा क्षेत्र के अलग-अलग स्थानों पर विवादास्पद कलश यात्राओं का हाल ही में आयोजन किया था। इन छह आरोपियों में पूर्व विधायक और मौजूदा जिला भाजपा अध्यक्ष राजेश सोनकर शामिल हैं।

भाजपा सूत्रों ने बताया कि सांवेर के 250 गांवों में भाजपा की नर्मदा कलश यात्राओं का सिलसिला चार सितंबर से शुरू हुआ था। ये यात्राएं बृहस्पतिवार को खत्म होने वाली हैं। सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीरों में इन यात्राओं में सैकड़ों ग्रामीण महिलाएं अपने सिर पर नर्मदा नदी के जल से भरा कलश रखकर शोभा यात्रा के रूप में चलती दिखायी दे रही हैं। यात्रा में शामिल महिलाएं ढोल की थाप पर समूह में नृत्य करती भी नजर आ रही हैं।

सांवेर, सूबे के उन 27 विधानसभा क्षेत्रों में शामिल है जहां आने वाले दिनों में उप चुनाव होने हैं। राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के वफादार समर्थकों में गिने जाने वाले प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट को सांवेर उप चुनाव में भाजपा का टिकट मिलना तय है। उधर, कांग्रेस की ओर से पूर्व लोकसभा सांसद प्रेमचंद बौरासी “गुड्डू” की उम्मीदवारी पक्की मानी जा रही है।(एजेंसी)