Netflix

भोपाल. मध्यप्रदेश पुलिस ने सोमवार को ओटीटी प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स के दो अधिकारियों के खिलाफ वेब सीरीज “ए सूटेबल बॉय” में कथित रूप से एक मंदिर में किसिंग सीन दिखाने से लोगों की भावनाओं को आहत करने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की है। पुलिस ने यह प्राथमिकी भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के राष्ट्रीय सचिव गौरव तिवारी की शिकायत पर दर्ज की है।

मध्यप्रदेश के रीवा शहर के सिविल लाइंस पुलिस थाने में नेटफ्लिक्स के दो अधिकारियों मोनिका शेरगिल, (वाइस प्रेसीडेंट, कन्टेंट) तथा अंबिका खुराना (डायरेक्टर, पब्लिक पॉलिसीज) के नाम से प्राथमिकी दर्ज की गयी है। प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सोमवार को कहा, “मैंने अधिकारियों से इस बात की जांच करने के निर्देश दिये थे कि सीरीज ‘ए सूटेबल बॉय’ में दिखाये जा रहे किसिंग सीन क्या किसी मंदिर में फिल्मायें गये हैं और क्या इससे धार्मिक भावनाओं को चोट लगी है। जांच में प्राथमिक तौर पर यह पाया गया है कि इन दृश्यों से एक विशेष धर्म की भावनाओं को ठेस पहुंची है।”

उन्होंने कहा, “गौरव तिवारी की शिकायत के आधार पर भादवि की धारा 295 ए (धार्मिक भावनाओं के आहत होने संबंधी धारा) के तहत रीवा में नेटफ्लिक्स के अधिकारियों मोनिका शेरगिल और अंबिका खुराना के खिलाफ दर्ज की जा रही है।” इससे पहले, तिवारी ने शनिवार को रीवा के पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार सिंह को एक ज्ञापन सौंपकर नेटफ्लिक्स और सीरीज के निर्माताओं से माफी मांगने तथा आपत्तिजनक दृश्यों को हटाने की मांग की थी।

तिवारी ने कहा कि सीरीज के कुछ हिस्सों को मध्यप्रदेश के महेश्वर में नर्मदा किनारे एक शिव मंदिर में फिल्माया गया है तथा मंदिर के अंदर किसिंग सीन से हमारी भावनाओं को ठेस पहुंची है। उन्होंने एसपी को अपनी शिकायत में नेटफ्लिक्स के दो अधिकारियों मोनिका शेरगिल और अंबिका खुराना को नामित किया था।

उधर, एसपी राकेश कुमार ने सोमवार को कहा कि तिवारी की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है और आगे जांच की जा रही है। मालूम हो कि छह भागों वाली नेटफ्लिक्स सीरीज ‘ए सूटेबल बॉय’ को प्रसिद्ध निर्माता एवं निर्देशक मीरा नायर ने बनाया है। नायर, समीक्षकों द्वारा अपनी फिल्मों जैसे सलाम बॉम्बे, मॉनसून वेडिंग और द नेमसेक की प्रशंसा की लिये जानी जाती है। (एजेंसी)