18,000 children infected in Nashik, first infected on 28 March 2020
प्रतीकात्मक तस्वीर

    औरंगाबाद. महाराष्ट्र (Maharashtra) के मराठवाड़ा क्षेत्र (Marathwada) में कोविड-19 (COVID-19) के कारण अब तक कम से कम 1504 बच्चों ने अपने माता-पिता में से एक या दोनों को खो दिया है। अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि राज्य सरकार ने महामारी में अनाथ बच्चों का पता लगाने के लिए एक सर्वेक्षण का आदेश दिया था। सर्वेक्षण आशा कार्यकर्ताओं, स्थानीय शासी निकायों, स्वास्थ्य विभाग और अन्य सरकारी एजेंसियों के माध्यम से किया गया था, जिनके पास कोविड-19 मामलों के आंकड़े थे।

    महिला एवं बाल विकास विभाग (Department of Women and Child Development) में संभागीय आयुक्त हर्षा देशमुख (Harsha Deshmukh) ने कहा, “मराठवाड़ा में सात जून तक 18 साल की उम्र तक के 1504 बच्चों ने अपने माता-पिता में से एक या दोनों को खोया है। इनमें से 181 बच्चों की मां की मौत हो गई है जबकि 1296 बच्चों के पिता की मृत्यु हुई है।”

    उन्होंने बताया कि कम से कम 27 बच्चों के दोनों माता-पिता का महामारी में देहांत हो गया। उन्होंने नागरिकों से आग्रह किया कि वे 1098 हेल्पलाइन नंबर पर इस तरह के मामलों की जानकारी दें। अधिकारी ने बताया कि औरंगाबाद जिले में कम से कम 339 बच्चों ने अपने माता-पिता में से एक या दोनों को खोया है जो क्षेत्र में सबसे ज्यादा है।

    उन्होंने बताया, “कम से कम 1358 बच्चों को भविष्य में देखभाल और संरक्षण की जरूरत होगी। हम इन बच्चों को विभिन्न सरकारी योजनाओं में शामिल करेंगे। उनमें से कुछ को केंद्रों में रखना पड़ सकता है और कुछ परिवारों को ऐसे बच्चों को पालने के लिए सहायता मिल सकती है।” (एजेंसी)