RAJ-AND-ASADUDDIN

    औरंगाबाद (महाराष्ट्र). ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) तथा मनसे (MNC) ने मांग की है कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगाई गई पाबंदियों में औरंगाबाद जिले के व्यवसायियों के लिए छूट दी जाए और उन्हें एक जून से अपनी दुकानें खोलने की इजाजत दी जाए। इसके साथ इन दलों ने कहा कि ऐसा नहीं होने की स्थिति में कारोबारी पाबंदियों को नहीं मानेंगे।

    एआईएमआईएम के औरंगाबाद से लोकसभा सदस्य इम्तियाज जलील ने एक वीडियो संदेश में कहा कि वे एक जून के बाद भी लॉकडाउन जैसी पाबंदियों को बढ़ाने का समर्थन करेंगे बशर्ते मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे घोषणा करें कि सरकार इस अवधि में दुकानदारों के बिजली के बिलों तथा करों में छूट देगी।

    उन्होंने कहा कि यदि मांग नहीं मानी गई तो ‘‘हमने तथा औरंगाबाद के व्यवसायियों ने एक जून से दुकानें खोलने का फैसला किया है।” वहीं महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के जिला अध्यक्ष सुहास दशरठे ने भी कहा कि कोविड-19 के मामले औरंगाबाद में कम हुए हैं और कारोबारियों को अपनी दुकानें खोलने की अनुमति दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘यदि प्रशासन कोई कदम नहीं उठाता है तो मनसे उनकी दुकानें खोलेगा।”