devendra-Fadanvis

    नागपुर: परमवीर (Parambir Singh) के पत्र से महाराष्ट्र की राजनीति (Maharashtra Politics) में भूचाल आया हुआ है। महाविकास अघाड़ी सरकार (Mahavikas Aghadi Government) जहां गृहमंत्री अनिल देशमुख (Anil deshmukh) के समर्थन में खड़ी हो गई है, वहीं विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) लगातार उनके इस्तीफे की मांग कर रही है। इसी बीच राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadanvis) ने एनसीपी सुप्रिमों शरद पवार (Sharad Pawar) पर तंज कसा है, उन्होंने कहा कि, “महाविकास अघाड़ी सरकार को बनाने वाले पवार साहब थे, इसलिए अपने बनाए हुए प्रोडक्ट को बचाने में लगे हुए हैं।”

    रविवार को नागपुर में आयोजित प्रेस वार्ता में फडणवीस ने कहा, “गृह विभाग के कारोबार पर सवाल उठाने वाले परम बीर सिंह पहले व्यक्ति नहीं है इससे पहले महाराष्ट्र के डीजी सुबोध जायसवाल ने गृह विभाग में होने वाली रिश्वतखोरी, तबादला के बारे में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को एक रिपोर्ट सौंपी थी। लेकिन CM ने इस पर कार्रवाई नहीं की।”

    एनसीपी प्रमुख पर हमला बोलते हुए भाजपा नेता ने कहा, “शरद पवार साहब महाराष्ट्र सरकार को बचाने की ज़िम्मेदारी अपने कंधे पर लिए हुए हैं क्योंकि उन्होंने ही इस सरकार को बनाया है, इसलिए वो मानते हैं कि वो अपने प्रोडक्ट को सुरक्षित रखें।”

    गृहमंत्री पर लगे आरोप गंभीर

    दरअसल, परमबीर सिंह द्वारा गृहमंत्री अनिल देशमुख पर लगाए आरोपों को लेकर एनसीपी प्रमुख पवार ने नई दिल्ली में प्रेस वार्ता को संबोधित किया था। जिसमें उन्होंने कहा कि, “महाराष्ट्र के गृह मंत्री पर लगे आरोप गंभीर हैं। लेकिन पत्र में न तो परमबीर के हस्ताक्षर है और न ही उनके ऑफिसियल मेल से आया है। 

    इस मामले पर जांच पर उन्होंने कहा कि, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के पास गृह मंत्री के खिलाफ इन आरोपों की जांच के बारे में निर्णय लेने का पूर्ण अधिकार है। मेरी मुख्यमंत्री से मांग है कि, मामले की निष्पक्ष जांच पूर्व आईपीएस अधिकारी जूलियो रिबेरो से कराई जाए।”

    महाराष्ट्र सरकार पर कोई ख़तरा नहीं 

    इस पत्र के बाद सरकार पर आए संकट पर एनसीपी प्रमुख ने कहा, “मुझे नहीं पता कि ये सब सरकार (महाराष्ट्र) को गिराने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं या नहीं। मैं सिर्फ इतना कह सकता हूं कि सरकार पर इसका कोई असर नहीं होगा। वहीं अनिल देशमुख के इस्तीफे के सवाल उन्होंने कहा कि, आने वाले दो तीन दिनों पर इसपर फैसला लेलिया जाएगा।