Arnab will have to appear before Mumbai Police on October 24, chapter processing started

मुंबई: रिपब्लिक टीवी (Republic TV) के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) के खिलाफ मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने क़ानूनी प्रक्रिया शुरू कर दी है। खबर है, मुंबई पुलिस ने अर्नब के खिलाफ चैप्टर प्रोसिडिंग (Chapter Proceeding) शुरू कर दी है। तो वहीं दूसरी तरफ शुक्रवार को अर्नब को एक बार फिर से विधानसभा में पेश होने का नोटिस दिया गया है।

वहीं, अर्नब की ओर से दावा किया गया है कि नोटिस उन्हें दोपहर 2.50 बजे मिला। उन्हें सिर्फ 10 मिनट में यानी 3 बजे तक पेश होने के लिए कहा गया था। चैनल की ओर से जारी बयान में इसे बदले की कार्रवाई बताया गया है। इससे पहले अर्नब को मुंबई पुलिस ने कारण बताओ नोटिस जारी किया था और उनसे पूछा था कि क्यों न सीआरपीसी की धारा 108 के अंतर्गत उनके खिलाफ कार्रवाई शुरू की जाए।

नोटिस में दो घटनाओं- पालघर जिले में साधुओं की हत्या और बांद्रा में लॉकडाउन के दौरान प्रवासियों के एकजुट होने के मुद्दे पर आपत्तिजनक कवरेज का जिक्र किया गया था। रिपब्लिक चैनल ने इन दो घटनाओं को साम्प्रदायिक रंग देने और हिन्दू एवं मुस्लिमों के बीच तनाव भड़काने की कोशिश करने का आरोप है। 

इस मामले में अर्नब के वकील के अनुरोध पर छूट देते हुए अब उन्हें 24 अक्तूबर को वर्ली के एसीपी के समक्ष पेश होने को कहा गया है। इससे पहले उन्हें शुक्रवार को कार्यकारी मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश होने को कहा गया था।

बता दें कि, विधानसभा अध्यक्ष की अनुमति के बिना सदन की कार्यवाही की प्रति उच्चतम न्यायालय में जमा करने के मामले में महाराष्ट्र विधानसभा सचिवालय ने अर्नब गोस्वामी को विशेषाधिकार हनन का नोटिस जारी किया है।

अर्नब से 15 अक्टूबर को लिखित स्पष्टीकरण देने को कहा गया था। इससे पहले 16 सितंबर को अर्नब के खिलाफ शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक द्वारा विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव पेश किया गया था। इस पर विधानसभा सचिवालय ने विशेषाधिकार हनन का नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण देने को कहा था।