12th Board Exams Updates: Government will take decision on 12th Board Exams within next two days
File

  • पेपर लिखने के लिए 30 मिनट अधिक
  • जिस स्कूल में पढ़ते हैं वहीं रहेगा सेंटर

मुंबई. कोरोना महामारी (Corona Epidemic) के बीच 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा (Board Exam) देने वाले विद्यार्थियों (Students) को बड़ी राहत मिली है। सालभर ऑनलाइन पढ़ाई (Online Study) करने के बाद अब ऑफलाइन एग्जाम (Offline Exam) होने जा रहे है, इसी के मद्देनजर विद्यार्थियों को पेपर लिखने के लिए 30 मिनट अधिक देने का निर्णय शिक्षा विभाग (Education Department) ने लिया है। कोरोना संक्रमित होने या फिर कंटेंमेंट जोन में होने के कारण यदि कोई विद्यार्थी परीक्षा नहीं दे पाता है तो उसके लिए जून में विशेष परीक्षा का आयोजन भी किया गया है। इसके अलावा जुलाई-अगस्त में पुनःपरीक्षा का आयोजन भी किया जाएगा। यानी विद्यार्थियों के पास तीन बार परीक्षा देने का अवसर मिलेगा।

स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने शनिवार को पत्रकार परिषद बुलाई जिसमें उन्होंने ने राज्य माध्यमिक व उच्च माध्यमिक शिक्षण मंडल की ओर से अप्रैल-मई महीने में ली जाने वाली 10वीं और 12वीं की परीक्षा के आयोजन को लेकर जानकारी साझा की। 12वीं की लिखित परीक्षा 23 अप्रैल से  21 मई के दरम्यान और दसवीं की परीक्षा 29 अप्रैल से 20 मई तक होगी। 

परीक्षा नियोजित टाइमटेबल अनुसार ऑफलाइन ही होगी

वर्षा गायकवाड़ ने बताया कि राज्य में कोरोना महामारी के बीच परीक्षा नियोजित टाइमटेबल अनुसार ऑफलाइन ही होगी। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना को ध्यान में रखते हुए विद्यार्थी जिन स्कूलों और कॉलेजों में पढ़ रहे हैं वहीं उनके परीक्षा केंद्र होंगे। यदि क्लास रूम में अधिक भीड़ होती है तो करीब के ही स्कूल और कॉलेज को उपकेंद्र बनाया जाएगा।

10वीं की प्रैक्टिकल रद्द, सिर्फ होम असाइनमेंट

आमतौर पर 10 वीं की प्रैक्टिकल परीक्षा के लिए विद्यार्थियों को स्कूल जाना पड़ता है, लेकिन इस वर्ष कोरोना को देखते हुए लेखन कार्य (असाइनमेंट) दिया जाएगा जो विद्यार्थी घर पर ही बैठक कर ऑनलाइन सबमिट कर सकते हैं। विद्यार्थियों को असाइनमेंट 21 मई से 10 जून तक सबमिट करना होगा।

  • 12वीं के विद्यार्थियों की लिखित परीक्षा होने के बाद 22 मई से 10 जून तक प्रैक्टिकल परीक्षा होगी, लेकिन वो भी 5 से 6 ही प्रैक्टिकल परीक्षा होगी।
  • आर्ट्स, कॉमर्स और वोकेशनल कोर्स कर रहे विद्यार्थियों लिखित परीक्षा होने के 15 दिन के भीतर असाइनमेंट सबमिट करना होगा।
  • यदि विद्यार्थी या उसके घर का कोई सदस्य कोरोना से ग्रसित होता है और वह असाइनमेंट सबमिट नहीं कर पाता है तो उसे 15 दिन की और समय दिया जाएगा।
  • 80 अंक की लिखित परीक्षा के लिए विद्यार्थियों को 30 मिनट अधिक दिया जाएगा। जबकि 40 अंक की परीक्षा के लिए 15 मिनट अधिक समय दिया जाएगा। दिव्यांग विद्यार्थियों के लिए भी प्रत्येक घंटे के पीछे 20 मिनट अतिरिक्त दिए जाएंगे। वैसे तो परीक्षा 11 बजे शुरू होती है, लेकिन इस बार 10.30 बजे से ही परीक्षा शुरू हो जाएगी।
  • यदि परीक्षा के दौरान किसी विद्यार्थी को सौम्य लक्षण आते या फिर उसकी तबियत अचानक खराब होती है और वो एग्जाम देना चाहता है तो वो विशेष रूम में बैठ कर पेपर लिख सकता है।

दसवीं और बाहरवीं के शिक्षकों, प्राध्यापकों बोर्ड के कर्मचारी, पर्यवेक्षक, केंद्र प्रमुखों के टीकाकरण करने के लिए राज्य के मुख्य सचिव से चर्चा सुरू है। विद्यार्थियों और अभिभावकों से अनुरोध है कि वें सोशल मीडिया पर अफवाहों पर ध्यान न देते हुए बोर्ड की ऑफिसियल वेबसाइट से जुड़े रहे।

- वर्षा गायकवाड, स्कूल शिक्षा मंत्री