'Chennai Pattern' for Mumbai Local train

मुंबई. मुंबई की ‘लाइफलाइन’ (Lifeline) कही जाने वाली लोकल ट्रेन (Local Train) के दरवाजे सभी के लिए खोलने का दबाव लगातार बढ़ रहा है। इस बीच राज्य सरकार (State Government) ने ‘चेन्नई पैटर्न’ (Chennai Pattern) पर सभी के लिए मुंबई लोकल ट्रेन (Mumbai Local Train) शुरू किए जाने का संकेत दिया है। मुंबई में कोरोना (Corona) के कम होते मामलों के बीच पिछले माह से ही आम यात्री मुंबई लोकल ट्रेन खुलने का इंतजार कर रहे हैं। 

मुंबई लोकल में होने वाली भारी भीड़ को देखते हुए टाइम सेग्रेशन कर चरणबद्ध तरीके से सभी लोगों के लिए लोकल में इजाजत दिए जाने का सुझाव  राज्य सरकार के अधिकारियों  ने दिया था। अब ‘चेन्नई पैटर्न’ पर भीड़ नियंत्रण का विचार किया गया है। बताया गया है की चेन्नई लोकल की तरह महिलाओं को सारे समय और अन्य यात्रियों को ‘नॉन पिक आवर’ में लोकल में चलने की अनुमति दी जा सकती हैं।

राज्य सरकार जारी करेगी गाइडलाइन

उल्लेखनीय है कि चेन्नई में कोरोना संक्रमण के समय 3 चरणों में लोकल चलाने की परमिशन दी गई। पहले चरण में अत्यावश्यक कर्मचारियों को लोकल में इजाजत दी गई, उसके बाद नॉन पिक आवर में महिलाओं को और 23 दिसंबर से सभी आम यात्रियों को नॉन पिक आवर में यात्रा की इजाजत दी गई। इसी तरह मुंबई लोकल में यात्रा की इजाजत दी जाएगी। बताया गया है कि इसी सप्ताह आम लोगों को लोकल में यात्रा को लेकर सरकार की ओर से गाइडलाइन जारी की जाएगी।

ऑफिस टाइमिंग में बदलाव आवश्यक

रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, चेन्नई और मुंबई लोकल के संचालन में काफी फर्क है। चेन्नई की अपेक्षा 4 गुना यात्री मुंबई लोकल से चलते हैं। मुंबई के कार्यालयों के समय में भी परिवर्तन नहीं किया गया है। ऐसे में मुंबई लोकल में भीड़ नियंत्रण के लिए उपाय करने पड़ेंगे। इस समय मध्य और पश्चिम रेलवे पर 90 फीसदी लोकल ट्रेनों का संचालन हो रहा है। मध्य रेलवे पर 1572 पश्चिम रेलवे पर 1201 सर्विसेज चल रही हैं। रेलवे ने भी अपनी सभी लोकल ट्रेन चलाने की तैयारी कर ली है।

ऐसा है ‘चेन्नई पैटर्न’

  • कोरोनाकाल में चेन्नई लोकल 3 चरणों में चलाई गई
  • पहले चरण में पिक आवर में अत्यावश्यक कर्मचारी
  • दूसरा चरण यानी नॉन पिक आवर में महिलाएं
  • तीसरा चरण यानी नॉन पिक आवर में सभी आम लोगों के लिए