Corona: Health Chairman's wife Corona

    नागपुर. महाराष्ट्र की उपराजधानी नागपुर में कोरोना ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए है। जिले में पिछले 24 घंटे में 2500 से ज्यादा मामले सामने आए हैं। जबकि 18 लोगों ने अपनी जान गवाई है। वहीं 1,095 लोग कोरोनामुक्त हुए हैं। जिले में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,75,386 हो गई है। बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए नागपुर मनपा आयुक्त राधाकृष्णन बी. ने अब सख्त कदम उठाते हुए कड़े प्रतिबंध लागू कर दिए हैं। 

    नए आदेशों के अनुसार नागपुर शहर में स्टैंड अलोन वाली दुकाने जिसमें किराना, सब्जी, फल, मटन-चिकन की दुकाने शुरू रहेगी। साथ ही मार्केट में एक जगह एक से ज्यादा दुकाने खोलने की अनुमति नहीं है।

    कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए मनपा आयुक्त ने नियमों को अधिक सख्ती से लागू करने हेतु पुराने समय में बदलाव किया है। जिसके तहत 21 मार्च 2021 तक स्टैंड अलोन वाली उक्त दुकाने 17 मार्च से दोपहर 1 बजे तक ही शुरू रहेगी।

    24 घंटे के भीतर की गई जांच में जिले में कुल 2,587 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। सोमवार की तुलना में यह संख्या 290 अधिक है। 24 घंटे के भीतर जिले में 13,364 लोगों की जांच की गई। सरकार द्वारा जारी किए गए निर्देश के बाद टेस्टिंग बढ़ा दी गई है। इसमें सिटी में 1,921 और ग्रामीण में 664 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। अब तक सिटी में ही अधिक संक्रमित मिल रहे थे, लेकिन अब ग्रामीण भागों में भी वायरस ने जोर पकड़ लिया है, जबकि डॉक्टरों का मानना है कि टेस्टिंग बढ़ने से हर दिन संक्रमित मरीजों की संख्या और बढ़ सकती है। यानी अब स्थिति बिगड़ने लगी है। यही वजह है कि सावधानी और सतर्कता बेहद जरूरी हो गई है।

    फिर घटा रिकवरी रेट

    मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही हर दिन रिकवरी रेट भी घटता जा रहा है। हालांकि ठीक होने वाले मरीज भी अधिक ही है, लेकिन अचानक पॉजिटिव लोगों का फ्लो बढ़ने से रिकवरी रेट संभल नहीं पा रहा है। 24 घंटे के भीतर जिले में 1,095 लोगों को छुट्टी दी गई। वहीं अब तक कुल संख्या 1,51,917 हो गई है। इस वजह से रिकवरी रेट 86.62 फीसदी पर पहुंच गया है। जिले में 18 मरीजों की मौत हो गई। वहीं अब तक कुल मरने वालों की संख्या 4,489 तक पहुंच गई है। फिलहाल 18,980 एक्टिव केस हैं। इनमें सिटी में 15,509 और ग्रामीण में 3,471 का समावेश है। अब तक जिले में कुल 13,99,611 लोगों की जांच की जा चुकी है। 

    प्राइवेट लैब में सर्वाधिक जांच

    फिलहाल सिटी में करीब 20 प्रयोगशालाओं में कोरोना की जांच की जा रही है। इनमें 5,915 नमूनों की जांच की गई। इनमें 1,089 रिपोर्ट पॉजिटिव आईं, जबकि 3,127 एंटीजन टेस्ट में महज 101 रिपोर्ट पॉजिटिव आईं। एम्स की लैब में 1,056 और मेडिकल में 1,392 नमूनों की जांच की गई जिसमें क्रमश: 444 व 341 रिपोर्ट पॉजिटिव आई। डॉक्टरों की मानें तो वायरस तेजी से फैलने का ही नतीजा है कि अधिकाधिक लोग संक्रमित हो रहे हैं। बीमारी से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क अनिवार्य है।