Religious places including temples will open in Maharashtra from Monday

  • प्रसिद्ध सिद्धिविनायक मंदिर को अगली सूचना तक श्रद्धालुओं के लिए बंद
  • तुलजा भवानी मंदिर को 17 से 31 मार्च तक बंद करने का निर्णय लिया गया
  • संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लिया निर्णय

मुंबई/औरंगाबाद:  महाराष्ट्र में कोरोना वायरस फैलने के मद्देनजर मुंबई के प्रसिद्ध सिद्धिविनायक मंदिर को अगली सूचना तक श्रद्धालुओं के लिए बंद करने की घोषणा सोमवार को की गई। एक अधिकारी ने बताया कि राज्य के उस्मानाबाद जिले में स्थित तुलजा भवानी मंदिर को भी श्रद्धालुओं के लिए 17 से 31 मार्च तक बंद कर दिया गया है। इससे पहले महाराष्ट्र सरकार ने संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लोगों से भीड़भाड़ वाले स्थान से बचने का आग्रह किया था।

प्रभादेवी क्षेत्र में स्थित भगवान गणेश को समर्पित सिद्धिविनायक मंदिर में प्रतिदिन सैकड़ों श्रद्धालु दर्शन करने जाते हैं और यहां मंगलवार को अत्यधिक भीड़ होती है। सिद्धिविनायक मंदिर न्यास के अध्यक्ष आदेश बांदेकर ने कहा कि विश्व में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। बांदेकर ने कहा, “सिद्धिविनायक मंदिर में हजारों लाखों लोग दर्शन करने आते हैं। वर्तमान स्थिति में कोरोना वायरस के खतरे से निपटना हमारा दायित्व है। इसलिए न्यास ने अगली सूचना तक दर्शन के लिए मंदिर बंद करने का निर्णय लिया है।”

तुलजा भवानी मंदिर के सहायक जनसंपर्क अधिकारी नागेश शितोले ने पीटीआई-भाषा से कहा कि कोरोना वायरस के खतरे के बावजूद रविवार को तेरह हजार श्रद्धालुओं ने मंदिर में दर्शन किए। उन्होंने कहा, “इसलिए प्रबंधन समिति की आज एक बैठक हुई और मंदिर को 17 से 31 मार्च तक बंद करने का निर्णय लिया गया।”(एजेंसी)