corona
Representative Image

    मुंबई/भोपाल. जहाँ एक तरफ देश में होली (Holi) का त्यौहार मुहाने पर खड़ा है। वहीं अब कोरोना (Corona) एक बार फिर खतरनाक होता जा रहा है। बीते 16 दिनों से कोरोना मरीजों के रोजाना नए रिकॉर्ड बन रहे हैं, जिसके चलते अब आंकड़ा 62 हजार तक पहुंच गया है। अगर हम देखें तो छह राज्यों महाराष्ट्र, पंजाब, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, गुजरात और मध्य प्रदेश में  कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। वहीं देश में पिछले 24 घंटे में मिले कोरोना मरीजों में से 79.57% मामले तो इन्हीं राज्यों से हैं। हालात अब इस कदर गंभीर हो चुके हैं कि अब कई राज्यों ने एहतियातन सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। 

    अगर हम महाराष्ट्र (Maharashtra) की स्तिथि को देखें तो राज्य में पिछले 24 घंटों में 166 लोगों की मौत हुई हैं जो पिछले साल अक्टूबर के बाद से एक दिन में सबसे अधिक है। राज्य में 35 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। वहीं राजधानी मुंबई में भी 6,000 से ज्यादा नए मामले आए है। इस बात की जानकारी स्वास्थ्य विभाग ने दी हैं। वहीं स्वास्थ्य विभाग के अनुसार राज्य में पिछले 24 घंटे में 35 हजार 726 नए मामले सामने आए हैं। जिससे संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 26 लाख 73 हजार 461 हो गई। वहीं राज्य में पिछले 24 घंटे में 166 लोगों की मौत हुई हैं। जिसके बाद कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या 54 हजार 073 हो चुकी है।

    महाराष्ट्र: आज से 15 अप्रैल तक रात 8 से सुबह 7 बजे तक होगा कर्फ्यू, इन चीजों पर प्रतिबंध:

    महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए उद्धव सरकार ने एक तरह से मिनी लॉकडाउन लगा दिया है। सरकार ने प्रदेश में आज यानि रविवार से आगामी 15 अप्रैल तक रात 8 बजे से सुबह 7 बजे तक कर्फ्यू लगाने की घोषणा की है। 

    वहीं शनिवार को कई चीजों पर पाबंदी लगाने के आदेश दिए। नए आदेश के अनुसार रेस्तरां, उद्यान और मॉल रात 8 बजे से सुबह 7 बजे तक बंद रहेंगे। जबकि लोगों को रात 8 बजे से सुबह 7 बजे के दौरान समुद्र तटों सहित सभी सार्वजनिक स्थानों पर जाने और पांच से अधिक लोगों के इकट्ठा की अनुमति नहीं होगी। उल्लंघन करने पर प्रति व्यक्ति 1,000 रुपये का जुर्माना लगेगा। मास्क न पहनने पर 500 रुपये का जुर्माना लगेगा जबकि सार्वजनिक स्थान पर थूकने पर 1,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।

    नए आदेश के अनुसार राज्य में सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक और धार्मिक समारोहों के आयोजन पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया गया है। ड्रामा थिएटर भी शनिवार रात से बंद रहेंगे। ये आदेश शनिवार 27 मार्चकी मध्यरात्रि से लागू होंगे। हालांकि, सरकार ने अपने नए दिशानिर्देशों में रात के समय खाने की डिलीवरी में छूट दी है।

    इसके साथ ही अब सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों पर भी पाबंदी लागू रहेगी। नाट्यगृह और ऑडिटोरियम में अब कोई कार्यक्रम नहीं हो सकेगा। शादी में 50 लोग और अंतिम संस्कार में मात्र 20 लोगों को शामिल होने की अनुमति दी गई है। लेकिन इससे अधिक लोगों की उपस्थिति पर उचित कार्रवाई होगी।

    वहीं, सार्वजनिक स्थलों पर पांच से अधिक लोग एक साथ पाए जाने पर या थूकने पर 1000 रुपये जबकि बिना मास्क के पाए जाने वालों से 500 रुपए जुर्माना अब वसूल किया जाएगा। हेल्थकेयर, जीवन आवश्यक सेवाएं व उत्पादन इकाईयों को छोड़कर सभी निजी कार्यालयों में केवल 50 फीसदी कर्मचारी ही अब मौजूद रह सकेंगे। सरकारी कार्यालयों में बिना जरूरी कार्य के लोगों को अब प्रवेश नहीं दिया जाएगा। इसके साथ ही धार्मिक ट्रस्टों से यह कहा गया है कि वे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए ही श्रद्धालुओं को प्रवेश दें।

    मध्यप्रदेश: इन12 शहरों में हर रविवार को होगा लॉकडाउन :

    इधर कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार की रोकथाम के लिए अब मध्य प्रदेश (MadhyPradesh) के 12 शहरों में आगामी आदेश तक प्रत्येक रविवार को लॉकडाउन जारी रहेगा। मध्य प्रदेश के अपर मुख्य सचिव डॉ। राजेश राजौरा ने बताया कि कोरोना संक्रमण के अनुचित प्रसार पर लगाम लगाने के लिए आगामी आदेश तक हर रविवार 11 जिलों के 12 शहरों में लॉकडाउन रहेगा।

    उन्होंने यह भी कहा कि इन शहरों में लॉकडाउन शनिवार रात्रि 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक प्रभावी रहेगा। राजौरा ने यह भी बताया कि जिन शहरों में लॉकडाउन रहेगा, उनमें इंदौर, भोपाल, जबलपुर, बैतूल, रतलाम, छिन्दवाड़ा, खरगोन, ग्वालियर, उज्जैन, विदिशा, नरसिंहपुर और छिन्दवाड़ा जिले का सौंसर भी शामिल हैं। अगर हम आंकड़ो को देखें तो बीते शनिवार को 

    मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 2,142 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इन्हें मिलाकर अब तक प्रदेश में 2,86,407 लोग इस भयंकर संक्रमण के चपेट में आ चुके हैं, जिनमें से अब तक 3,947 लोगों की मौत हो चुकी है।