mumbai

    मुंबई.  चक्रवाती तूफान ‘ताउते’ (Hurricane Tauktae) के गुजरात की ओर बढ़ने के बीच मुंबई और उसके आस-पास के इलाकों में सोमवार को बहुत तेज हवाओं के साथ बारिश हुई जिससे जगह जगह पेड़ उखड़ गये एवं ट्रेन सेवाएं बाधित हुईं। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। बृहन्मुंबई महानगर निगम (BMC) ने दोपहर को बताया कि भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने अगले कुछ घंटे के दौरान मूसलाधार वर्षा होने एवं 120 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से हवा चलने की चेतावनी दी है।

    फिलहाल मुंबई और उसके आस-पास के इलाकों में खूब वर्षा हो रही है एवं तेज आंधी चल रही है। बीएमसी प्रवक्ता तानाजी काम्बले ने कहा, ‘‘ आईएमडी ने अगले कुछ घंटे तक मुम्बई में भारी वर्षा जारी रहने की चेतावनी दी है।” बीएमसी के एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि तेज हवाओं के मद्देनजर बांद्रा-वर्ली सी-लिंक को यातायात के लिए बंद कर दिया गया है और लोगों को वैकल्पिक मार्ग का इस्तेमाल करने की सलाह दी गयी है।

    आईएमडी मुंबई की वरिष्ठ निदेशक शुभांगी भूटे ने बताया कि दक्षिण मुंबई के कोलाबा क्षेत्र में ग्यारह बजे के आसपास हवा की रफ्तार 102 किलोमीटर प्रति घंटा दर्ज की गयी जो दिन में अबतक की सबसे तेज, हवा की गति है। उन्होंने बताया कि सुबह साढे आठ से 11 बजे तक कोलाबा वेधशाला ने 79.4 मिलीमीटर वर्षा तथा सांताक्रूज वेधशाला ने 44.5 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की। रेलवे के एक प्रवक्ता ने बताया कि पास के ठाणे जा रही एक ट्रेन पर पेड़ गिर जाने से उपनगरीय घाटकोपर और विखरोली के बीच मध्य रेलवे की उपनगरीय ट्रेन सेवाएं आधे घंटे बाधित रहीं। चूनाभट्टी और गुरू तेज बहादुर स्टेशनों के बीच करीब पौने बारह बजे रेललाइन के उपरिगामी तार पर एक विनायल बैनर गिर जाने से हार्बर लाइन पर भी ट्रेन सेवाएं बाधित हुईं । आधे घंटे के बाद इस बैनर को हटाया गया और ट्रेन सेवाएं बहाल हुईं। हार्बर लाइन नवी मुंबई को रेल संपर्क प्रदान करती है। 

    प्रवक्ता ने बताया कि छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस पर सुबह में उपनगरीय एवं मुख्य लाइनों के बीच यात्री क्षेत्र की प्लास्टिक की छत तेज हवा के चलते उड़ गयी। आनन-फानन में रेलवे कर्मियों ने उसे सही किया। आगामी मानसून सत्र के लिए तैयारी के तहत नालों की सफाई के बीएमसी के दावे के बावजूद शहर के कई निचले इलाकों में जलजमाव हो गया। मुंबई पुलिस ने हिंदमाता जंक्शन, अंधेरी सबवे और मलाड सबवे समेत छह निचले इलाकों में जलभराव हो जाने के बारे में ट्वीट किया। एक व्यक्ति ने ट्वीट किया कि दहिसर में टीकाकरण के लिए खड़े किये गये अस्थायी पंडाल को भारी वर्षा एवं तीव्र हवा के चलते आंशिक नुकसान पहुंचा। लेकिन बीएमसी अधिकरियों ने इसकी पुष्टि नहीं की है।

    एहतियात के तौर पर शहर में मोनोरेल सेवा को दिनभर के लिए निलंबित कर दिया गया है। मुंबई महानगर क्षेत्रविकास प्राधिकरण (एमएमआरडीए) ने यह जानकारी दी। उसने बताया कि यात्रियों की सुरक्षा के लिए यह त्वरित निर्णय लिया गया।इससे पहले भारत मौसम विज्ञान विभाग, पुणे के पर्यावरण अनुसंधान और सेवा विभाग के प्रमुख के. एस. होसालीकर ने ट्वीट किया था, ‘‘ताउते चक्रवात अब अत्यंत तीव्र चक्रवाती तूफान का रूप ले चुका है। मुंबई में 160 किलोमीटर की रफ्तार और गुजरात में 290 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। उत्तरी कोंकण, महाराष्ट्र के तटवर्ती क्षेत्र और गुजरात में ध्यान रखें।”

    भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा था कि रायगढ़, पालघर, मुंबई, ठाणे और रत्नागिरि जिलों में प्रति घंटे 90-100 किलोमीटर रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं और बारिश होने का अनुमान है। बीएमसी अधिकारियों के मुताबिक रविवार सुबह से मुंबई में पेड़ गिरने की करीब 34 घटनाएं सामने आयी हैं लेकिन किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। बीएमसी संचालित बृहन्मुंबई विद्युत आपूर्ति एवं परिवहन (बीईएसटी) उपक्रम ने आपदा प्रबंधन के लिए नियंत्रण कक्षों समेत विभिन्न स्थलों पर अपनी परिवहन एवं विद्युत शाखाओं के अधिकारियों को तैनात किया है।बीएमसी के अनुसार राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और भारतीय नौसेना अपनी तैयारियों को लेकर पूरी तरह मुस्तैद है।