Pic Credit: ANI
Pic Credit: ANI

    मुंबई. कोविड-19 (Covid-19) महामारी के कारण जुलूस निकालने की अनुमति न मिलने पर तलवार लिए सिखों की एक भीड़ द्वारा नांदेड़ (Nanded) में पुलिसकर्मियों पर हमला करने के मामले के संबंध में पुलिस ने 14 लोगों को गिरफ्तार (Arrest) किया है। एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सोमवार को श्री हुजूर साहेब गुरुद्वारे (Shree Huzur Saheb Gurudwara) में हुई घटना के संबंध में महाराष्ट्र (Maharashtra) के नांदेड़ जिले में वजीराबाद पुलिस ने 64 लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की है। 

    सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हुए एक वीडियो (Vira Video) में गुरुद्वारे से निकलती सिखों की भीड़ देखी जा सकती है जिनके हाथ में तलवारें हैं। सिख पुलिस के अवरोधकों को तोड़ कर पुलिसकर्मियों पर हमला कर रहे हैं। अधिकारी ने बताया कि हिंसा की घटना में चार कांस्टेबल घायल हो गए और छह वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गए। उन्होंने कहा कि एक घायल पुलिसकर्मी की हालत गंभीर है।

    अधिकारी ने कहा कि पुलिस यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि घटना में कहीं गुरुद्वारा समिति के किसी सदस्य की भूमिका तो नहीं है। नांदेड़ रेंज के पुलिस उप महानिरीक्षक निसार तम्बोली ने पीटीआई-भाषा से कहा, “हमने हत्या, दंगा और हथियार अधिनियम तथा अन्य धाराओं में अब तक 14 लोगों को गिरफ्तार किया है। लगभग 64 लोगों के नाम प्राथमिकी में दर्ज हैं और अन्य की तलाश की जा रही है।” 

    अधिकारी ने सोमवार को बताया था कि कोरोना वायरस महामारी के कारण ‘होला मोहल्ला’ जुलूस की अनुमति नहीं दी गई। उन्होंने कहा था, “गुरुद्वारा समिति को इसकी सूचना दी गई थी और उन्होंने हमें आश्वासन दिया था कि हमारे निर्देशों का पालन करेंगे और गुरुद्वारा परिसर के भीतर अपना कार्यक्रम करेंगे।” अधिकारी के अनुसार, जब सोमवार शाम को चार बजे गेट पर निशान साहब लाया गया तब कई लोगों ने बहस शुरू कर दभ् और गेट से लगभग 300 युवा बाहर निकल आए और उन्होंने पुलिसकर्मियों पर हमला किया।(एजेंसी)