vijay Wadettivar

    नागपुर. महाराष्ट्र (Maharashtra) के राहत एवं पुनर्वास मंत्री विजय वडेट्टीवार (Vijay Wadettiwar) ने रविवार को कहा कि नागपुर (Nagpur) के मिहान (Mihan) क्षेत्र में 1,600 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से तकनीकी रूप से उन्नत ‘राज्य आपदा मोचन केंद्र’ (State Disaster Response Center) बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह केंद्र त्वरित आपदा और चक्रवात पर अलर्ट जारी करेगा और बारिश तथा अन्य आपदाओं के कारण कृषि को हुए नुकसान का नक्शा तैयार करने और सर्वेक्षण करने में मदद करेगा।

    मुंबई में रात भर हुई भारी बारिश के कारण भूस्खलन की घटनाओं में 25 लोगों की मौत हो जाने की पृष्ठभूमि में वडेट्टीवार ने संवाददाता सम्मेलन में यह कहा।

    वडेट्टीवार ने कहा, “1600 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से मिहान में 10 एकड़ के भूखंड पर राज्य आपदा मोचन केंद्र बनेगा। यह आपदा और चक्रवात पर अलर्ट देगा, साथ ही बारिश और अन्य आपदाओं के कारण कृषि को हुए नुकसान का नक्शा तैयार करने और सर्वेक्षण में मदद करेगा। एक सलाहकार नियुक्त किया गया है और परियोजना के डेढ़ साल में पूरा होने की उम्मीद है।”

    अधिकारियों ने बताया कि महानगर के माहुल में चहारदीवारी का एक हिस्सा गिरने से जहां 17 लोगों की मौत हुई, वहीं विखरोली में सात और भांडुप में एक व्यक्ति की मौत हुई।

    वडेट्टीवार ने संवाददाता सम्मेलन के दौरान चेंबूर (माहुल) में 14, विखरोली में छह और भांडुप में एक व्यक्ति की मौत की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मुंबई में भारी बारिश के बाद पहाड़ियों आदि पर रहने वाले लोगों को अलर्ट जारी किया गया था, लेकिन अक्सर लोग ऐसी चेतावनी को नजरअंदाज कर सुरक्षित स्थानों पर जाने से इनकार कर देते हैं। (एजेंसी)