Under ED scanner Shivsena MLA Pratap Sarnaik said- 'Battle of Delhi and Maharashtra, I will keep on fighting'

नयी दिल्ली/मुंबई.  प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने एक सुरक्षा सेवा प्रदाता कंपनी और अन्य के खिलाफ धनशोधन के मामले के संबंध में शिवसेना विधायक प्रताप सरनाइक (Pratap Sarnaik) के कथित सहयोगी अमित चंदोले (Amit Chandole) को गिरफ्तार (Arrest) किया है। आधिकारिक सूत्रों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि चंदोले को धन शोधन निरोधक अधिनियम (पीएमएलए) के तहत बुधवार देर रात गिरफ्तार किया गया और उसे शुक्रवार को एक स्थानीय अदालत के समक्ष पेश किये जाने की उम्मीद है। ईडी ने बुधवार को उससे पूछताछ की थी।

सूत्रों ने कहा कि जांच एजेंसी चंदोले की भूमिका और सरनाइक, सुरक्षा सेवा प्रदाता ‘टॉप्स ग्रुप’ और उसके प्रवर्तक राहुल नंदा के साथ उसके कथित संदिग्ध लेन देन की जांच कर रही है। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक नंदा ने किसी भी तरह के गलत काम से इनकार किया है। ईडी ने 24 नवंबर को निकटवर्ती ठाणे और मुंबई में सरनाइक, नंदा और कुछ अन्य के 10 परिसरों पर छापेमारी की थी। उन्होंने कहा कि 2014-15 के दौरान कंपनी द्वारा महाराष्ट्र सरकार के एक संगठन को सुरक्षाकर्मी उपलब्ध कराए जाने का एक खास मामला भी जांच के घेरे में है।

सूत्रों ने दावा किया कि एजेंसी ने सरनाइक के नाम एक विदेशी बैंक द्वारा जारी डेबिट कार्ड भी छापेमारी के दौरान जब्त किया है और इसका पता पाकिस्तान के एक व्यक्ति के नाम पर है जो विदेश में बसा है। उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में विधायक से जल्द ही पूछताछ की जाएगी। शिवसेना ने पूर्व में छापेमारी के इस मामले को “राजनीतिक बदले की भावना से की गई कार्रवाई” करार दिया था और कहा था कि महाराष्ट्र सरकार और उसके नेता किसी के दबाव के सामने नहीं झुकेंगे।