devendra-sanjay-raut

मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) के कोरोना (Corona) वायरस से संक्रमति होने के बाद शिवसेना सांसद संजय राउत ने रविवार को कहा कि वे उनसे ध्यान रखने को कह रहे थे और अब उन्हें एहसास होगा कि बाहर की स्थिति गंभीर है। महामारी के दौरान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के घर से बाहर नहीं निकलने पर विपक्ष ने हाल में उन पर निशाना साधा था। इसी के मद्देनजर राउत ने उक्त टिप्पणी की है।

यहां संवाददाताओं से बातचीत करते हुए राउत ने कहा कि ठाकरे ने विपक्ष के नेता फडणवीस का बेहतरीन इलाज सुनिश्चित करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। फडणवीस ने शनिवार को कहा था कि वह कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं। पार्टी के एक सूत्र ने बताया कि भाजपा नेता को मुंबई के एक सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया और उनकी हालत स्थिर है। सूत्र ने बताया कि शुक्रवार शाम को मुंबई लौटने पर फडणवीस ने खुद की जांच कराई थी, क्योंकि उनके साथ बिहार चुनाव प्रचार में शामिल रहे भाजपा के कुछ नेता कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं।

फडणवीस 19 से 21 अक्टूबर तक बाढ़ प्रभावित पश्चिमी महाराष्ट्र और मराठवाड़ा क्षेत्र के दौरे पर भी थे। यह पूछने पर कि क्या ठाकरे रविवार शाम को वार्षिक दशहरा संबोधन में भाजपा पर निशाना साधेंगे, तो राउत ने कहा, ” हम देवेंद्र फडणवीस से ध्यान रखने को कह रहे थे। उन्हें अब एहसास होगा कि बाहर की स्थिति गंभीर है। विपक्ष कहीं नहीं जाने के लिए मुख्यमंत्री पर निशाना साध रहा था। ” उन्होंने कहा कि फडणवीस ने सरकारी अस्पताल में खुद को भर्ती कराके अच्छी मिसाल पेश की है और ठाकरे ने उनका बेहतरीन इलाज सुनिश्चित करने के लिए निर्देश दिए हैं। शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता ने यह भी कहा कि कोविड-19 का टीका सभी नागरिकों के लिए होना चाहिए और इसका राजनीतिकरण सही नहीं है। उन्होंने कहा कि शिवसेना ने ठाकरे द्वारा दशहरे के मौके पर किए जाने वाले संबोधन को राज्य में दो करोड़ लोगों तक पहुंचाने के लिए इंतजाम किए हैं। ठाकरे रविवार शाम को शिवाजी पार्क के सामने सावरकर सभागार में दशहरे के मौके पर भाषण देंगे जिसमें विधायकों, सांसदों, मंत्रियों और मुख्यमंत्री के परिवार समेत 50 लोग शामिल होंगे।