fadnavis

    मुंबई. आज महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व मुख्यमंत्री तथा राज्य में BJP के कद्दावर नेता देवेन्द्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) अपना 51वां जन्मदिन मना रहे हैं। पता हो कि राज्य के पूर्व CM फडणवीस एक कुशल भारतीय राजनेता हैं। उन्होंने अपने पिता द्वारा राजनीति विरासत मिलने के बाद भी आज जनता के बीच अपनी एक अलग पहचान और पैठ बनाई है। विदित हो कि पूर्व CM फडणवीस के पिता राज्य विधान परिषद के गणमान्य मेंबर भी रह चुके है। 

    देवेन्द्र फडणवीस ने लॉ से स्नातक किया है।  इसके अतिरिक्त उन्होंने बिजनेस मैनेजमेंट का अध्ययन भी किया है। पूर्व CM फडणवीस अपने कॉलेज के दिनों में ABVP के एक सक्रिय मेंबर भी रह चुके हैं। यह सभी को मालूम है कि कपूर्व CM फडणवीस, देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भी काफी क़रीबी है। बीते विधानसभा चुनाव में चुनाव प्रचार के वक़्त नागपुर की सभा में PM मोदी ने फडणवीस की जमकर बढ़ाई की थी। इतना ही नहीं चुनावों से पहले ही ‘दिल्ली में नरेंद्र और महाराष्ट्र में देवेंद्र’ के नारे भी खूब जोर-शोर से लगे थे। 

    पूर्व CM देवेन्द्र फडणवीस से जुडी कुछ रोचक बातें :

    • महाराष्ट्र पूर्व CM देवेन्द्र फडनवीस का जन्म 22 जुलाई 1970 को नागपुर में हुआ। उनके पिता, गंगाधर फड़नवीस, नागपुर से महाराष्ट्र विधान परिषद के मेंबर के रूप में कार्यरत थे। 
    • फडणवीस अमरावती के कलती परिवार के वंशज हैं, उनकी मां सरिता फड़नवीस, विदर्भ हाउसिंग क्रेडिट सोसाइटी के पूर्व निदेशक भी रह चुकी हैं।
    • देवेन्द्र फडनवीस का पूरा नाम देवेन्द्र गंगाधरराव फडनवीस हैं। फड़नवीस ब्राह्मण परिवार से संबंध रखते हैं।
    • देवेन्द्र फडनवीस ने लॉ से स्नातक किया है।  इसके अलावा उन्होंने बिजनेस मैनेजमेंट की पढ़ाई भी की हुई है। 
    • अपने कॉलेज के दिनों में फडनवीस ABVP के एक सक्रिय सदस्य थे। 
    • ABVP के कार्यकर्ता के रूप में ही उन्होने जमीनी स्तर पर कई राजनेताओं के लिए जबरदस्त कार्य किया।
    • देवेन्द्र फडनवीस की शुरूआती शिक्षा इंदिरा कॉन्वेन्ट से हुई, जिसे तत्कालीन PM इंदिरा गांधी के नाम पर रखा गया था। 
    • आपातकाल के समय फडनवीस के पिता, गंगाधर, जो कि जन संघ के सदस्य थे, उन्हें सरकार के खिलाफ प्रदर्शन में भाग लेने के लिए जेल यात्रा भी करनी पड़ी थी। 
    • इसके बाद फडनवीस ने इंदिरा कॉन्वेंट में अपनी पढ़ाई जारी रखने से साफ़ मना कर दिया, क्योंकि वह PM के नाम पर एक स्कूल में शामिल नहीं होना चाह रहे थे।  जिसने उनके पिता को जेल भेजा था।  
    • बाद में उन्हें सरस्वती विद्यालय में स्थानांतरण कर दिया, जहां उन्होंने अपनी अधिकांश स्कूली शिक्षा सुचारू रूप से पूरी की।
    • देवेन्द्र फडनवीस ने अपनी 10 वर्षीय स्कूली शिक्षा पूरी कर, मध्यवर्ती अध्यन के लिए धरमपेठ जूनियर कॉलेज में एडमिशन लिया। 
    • 12 वीं की पढाई ख़त्म करने के बाद , उन्होंने 5 साल की एकीकृत कानून की डिग्री के लिए, गवर्नमेंट लॉ कॉलेज, नागपुर में एडमिशन भी लिया, जहाँ से 1992 में स्नातक की उपाधि हासिल की।
    • महाराष्ट्र के पूर्व CM के पास बिजनेस मैनेजमेंट में स्नातकोत्तर की डिग्री भी है और DSE (जर्मन फाउंडेशन फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट), बर्लिन से प्रोडक्ट मैनेजमेंट के तरीकों और तकनीकों में एक डिप्लोमा उन्होंने कर रखा है।
    • पूर्व CM फडणवीस बजट पर एक बेहतरीन किताब भी लिख चुके हैं।  

    पूर्व CM फडणवीस की छवि जमीन से जुड़े एक तेज तर्रार नेता की है। देवेंद्र फडणवीस ने अपनी राजनीतिक करियर की शुरुआत वर्ष 1992 में  BJYM के वार्ड अध्यक्ष के रूप में की थी।  फिर उन्हें नागपुर शहर का अध्यक्ष भी बनाया गया।  साल 1994 में वो राज्य उपाध्यक्ष भी थे।  इसके बाद 1997-2001 के बीच सिर्फ 27 साल की उम्र में उन्होंने महापौर की भूमिका में भी काम किया है।  इसके बाद साल 1999 में वो नागपुर से विधायक भी बने।  फिर 2001 में उन्हें राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भी बनाया गया।  इन सबके बाद देवेन्द्र फडणवीस ने 31 अक्टूबर, 2014 को महाराष्ट्र के 18वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी और बखूबी अपना राजधर्म निभाया।  आज राज्य के पूर्व CM देवेन्द्र फडणवीस अपना 51वां जन्मदिन मना रहे हैं।