Anil Deshmukh
File Photo

मुंबई. महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Home Minister Anil Deshmukh) ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने जलगांव के भाजपा सांसद उनमेश पाटिल (Jalgaon BJP MP Unmesh Patil) और उनके समर्थकों द्वारा चार साल पहले पूर्व सैनिक पर कथित रूप से हमले के मामले (attack on ex-serviceman case) में तत्काल जांच (Investigation) करने के आदेश दिए हैं। एक वीडियो संदेश में देशमुख ने कहा कि 2016 में पूर्व सैनिक सोनू महाजन (Sonu Mahajan) पर पाटिल और उनके समर्थकों ने हमला किया था, लेकिन पुलिस (Police) ने कथित तौर पर प्राथमिकी दर्ज नहीं की थी, क्योंकि उस वक्त भाजपा (BJP) सत्ता में थी। पाटिल तब विधायक थे। महाजन ने बंबई उच्च न्यायालय (Bombay High Court) का रूख किया और अदालत के आदेश पर घटना की प्राथमिकी दर्ज की गई।

देशमुख ने कहा, ” प्राथमिकी 2019 में दर्ज की गई थी। पिछले चार-पांच दिनों के दौरान इसे लेकर मुझे कई ज्ञापन मिले हैं। लिहाजा मैंने जलगांव के पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिया है कि मामले की तत्काल जांच हो।” प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने रविवार को आरोप लगाया था कि महाजन 2016 से इंसाफ के लिए लड़ रहे हैं जबकि उन पर “भाजपा विधायक उनमेश पाटिल के निर्देश पर हमला किया गया था, जो (पाटिल) अब सांसद बन गए हैं।”

देशमुख ने जांच के आदेश ऐसे समय में दिए हैं जब महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ शिवसेना पूर्व नौसेना कर्मी मदन शर्मा पर हमले को लेकर आलोचना का सामना कर रही है। पिछले हफ्ते मुंबई में शर्मा (62) पर हमला करने के आरोप में शिवसेना के छह कार्यकर्ताओं को मंगलवार को फिर से गिरफ्तार किया गया है। शर्मा ने मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का मजाक उड़ाने वाला कार्टून कथित रूप से सोशल मीडिया पर साझा किया था जिसके बाद उनपर हमला किया गया था। (एजेंसी)

महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख के बयान पर बीजेपी नेता चित्रा वाघ का हमला।