Sharad Pawar

मुम्बई. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार (NCP Sharad pawar) ने मंगलवार को कहा कि आयकर विभाग (Incom Tax Department) ने उन्हें चुनाव आयोग को उनके द्वारा जमा किये चुनावी हलफनामों (Election Affidavits) के सिलसिले में नोटिस (Notice) भेजा है। पवार ने यहां संवाददाताओं से कहा कि आयकर विभाग ने उनसे उनके द्वारा दिये गये कुछ चुनावी हलफनामों के सिलसिले में ‘स्पष्टीकरण एवं सफाई’ मांगी है।

उन्होंने कहा, ‘‘कल मुझे नोटिस मिला…हम खुश हैं कि वह (केंद्र) सभी सदस्यों में से , हमें प्यार करता है… आयकर विभाग ने तब नोटिस जारी किया जब उससे चुनाव आयोग (Election Commission) ने ऐसा करने को कहा….हम नोटिस का जवाब देंगे।” वह इस खबर के बारे में किये गये सवाल का जवाब दे रहे थे कि आयकर विभाग ने उनकी बेटी और लोकसभा सदस्य सुप्रिया सुले, (Supriya Sule) महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Udhav Thackeray) और पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे (Aaditya Thackeray) को भी ऐसा ही नोटिस भेजा है।

पवार ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की संभावना संबंधी खबरों को तवज्जो नहीं दी। उन्होंने कहा, ‘‘ क्या (राष्ट्रपति शासन लगाने की) कोई वजह है? क्या राष्ट्रपति शासन कोई मजाक है? ” राकांपा प्रमुख ने कहा कि महाराष्ट्र विकास अघाड़ी को विधानसभा में स्पष्ट बहुमत प्राप्त है। उन्होंने प्याज के निर्यात पर पाबंदी लगाने को लेकर भी केंद्र की आलोचना की। (एजेंसी)