इमरजेंसी में इस्तेमाल की इजाजत के लिए अगले 2 हफ्तों के भीतर सीरम इंस्टिट्यूट करेगा अप्लाई

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिया जायजा

पुणे. सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ आदर पूनावाला ने दावा किया कि सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा निर्मित किया जानेवाला कोरोना का कोविशील्ड टीका पूरी तरह से सुरक्षित है. कोरोना वैक्सीन में देरी नहीं होगी. उन्होंने कहा कि कोविशील्ड के ट्रायल के नतीजे बहुत अच्छे रहे हैं.

उन्होंने यह भी बताया कि कोविशील्ड के इमरजेंसी में इस्तेमाल की इजाजत के लिए जल्द ही अप्लाई किया जाएगा. इसका साफ मतलब है कि वैक्सीन निर्माण अडवांस्ड स्टेज में है. आदर पूनावाला ने कहा कि हम कोविशील्ड के इमरजेंसी में इस्तेमाल के लिए इजाजत की खातिर अगले 2 हफ्तों में आवेदन करने की प्रक्रिया में हैं. उन्होंने कहा कि ट्रायल के दौरान जीरो हॉस्पिटलाइजेशन बड़ी बात है. यह टीका पहले भारत में वितरित की जाएगी. उन्होंने कहा कि जुलाई 2021 तक इस टीका के करीब 30-40 करोड़ डोस उपलब्ध कराए जाएंगे.

प्रधानमंत्री ने किया सीरम का दौरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड -19 वायरस वैक्सीन के विकास, उत्पादन, वितरण, भंडारण और प्रबंधन के बारे में जानने के लिए आज पुणे के सीरम संस्थान का दौरा किया. करीब एक घंटे तक वे इस इंस्टीट्यूट में रहे. इस दौरान  सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के मुख्य कार्यकारी निदेशक डॉ. सायरस पूनावाला, मुख्य कार्यकारी अधिकारी आदर पूनावाला, कार्यकारी निदेशक नताशा पूनावाला, वैज्ञानिक और संबंधित विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे. शुरुआत में आदर ने संगठन के बारे में मोदी को बताया. उसके बाद प्रधानमंत्री ने कोविड़-19 निवारक वैक्सीन के उत्पादन के सिलसिले में भारत के सीरम संस्थान में चल रहे कार्यों का निरीक्षण किया. इस समय वैज्ञानिकों ने उन्हें टीका लगाने के प्रयासों की तैयारी, चुनौतियों के बारे में बताया.

हमारा ध्यान तीसरे ट्रायल के नतीजे पर लगा हुआ

पूनावाला के अनुसार, संस्था में प्रति माह 5-6 करोड़ डोस बनाए जा रहे हैं. जनवरी के बाद 10 करोड़ डोस बनाए जाएंगे. ज्यादा से ज्यादा लोगों तक टीका पहुंचाने के लिए प्रयास किया जाएगा. यह टीका लोगों को कम दामों में उपलब्ध कराई जाएगी. पूनावाला के अनुसार, हमारा ध्यान तीसरे ट्रायल के नतीजे पर लगा हुआ है. सरकार के साथ समन्वय कर जल्द ही इसके वितरण को लेकर जानकारी दी जाएगी. पूनावाला ने दावा किया कि इस टीका से 60% लोगों को अस्प्ताल में जाने की जरुरत नहीं होगी.

पुणे हवाई अड्डे पर प्रधानमंत्री की अगुवाई ले.जनरल सी.पी. मोहंती, एयर कमोडोर एच. असूदानी, पुलिस महासंचालक सुबोध कुमार जयसवाल, पुणे डिविजनल कमिश्नर सौरभ राव, पुलिस कमिश्नर अमिताभ गुप्ता, जिलाधिकारी डॉ. राजेश देशमुख ने किया. यहां से हेलीकाप्टर से वे सीधे सीरम इंस्टीट्यूट गए.  जब उनका हेलीकाप्टर सीरम इंस्टीट्यूट के उपर था तो भारी संख्या में स्थानीय लोग उन्हें देखने के लिए आसपास इकट्टा हो गए थे.

आसाराम बापू की रिहाई की मांग

सीरम इन्स्टीट्युट परसर के आसपास पुलिस का कड़ा बंदोबस्त था. ऐसे में आसाराम बापू के कुछ समर्थक उनकी रिहाई की मांग लेकर वहां पहुंच गए. 3 लोगों को पुलिस ने अपन कब्जे में ले लिया.