Sudhir Mungantiwar

    मुंबई: भारतीय जनता पार्टी महाराष्ट्र (BJP Maharashtra) के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) से बुधवार को मिलकर राज्य की वर्तमान स्थिति पर एक “तथ्यात्मक” रिपोर्ट राष्ट्रपति को भेजने का आग्रह करेगी। पार्टी के नेता सुधीर मुनगंटीवार (BJP leader Sudhir Mungantiwar) ने सोमवार को यह जानकारी दी।  मुनगंटीवार ने यहां संवाददाताओं से बात करते हुए राज्य की वर्तमान स्थिति की तुलना 1980 से की जब महाराष्ट्र में शरद पवार की प्रगतिशील लोकतांत्रिक मोर्चा सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया था।  भाजपा नेता ने कहा कि “1980 जैसी स्थिति होने” के बावजूद वह राष्ट्रपति शासन की मांग नहीं कर रहे हैं। मुनगंटीवार ने कहा कि परमबीर सिंह द्वारा लगाए गए आरोप गंभीर हैं और उन्हें हल्के में नहीं लिया जा सकता।   

    सिंह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे आठ पन्नों के पत्र में दावा किया था कि गृह मंत्री अनिल देशमुख, पुलिस अधिकारियों से बार और होटलों से सौ करोड़ रुपये प्रतिमाह उगाही करने को कहते थे। हालांकि, देशमुख ने सिंह के आरोपों का खंडन किया है।  मुनगंटीवार ने कहा, “राज्यपाल प्रदेश के संवैधानिक प्रमुख होते हैं। संविधान कहता है कि यदि राज्य सरकार संविधान के मुताबिक नहीं चल रही तो राज्यपाल को राष्ट्रपति तक सच्चाई पहुंचानी चाहिए।”   

    उन्होंने कहा, “हम परसों राज्यपाल से मुलाकात करेंगे। हम मांग करेंगे कि वह राज्य में चल रहे घटनाक्रम के बारे में राष्ट्रपति को रिपोर्ट सौंपें।”