मुंबई: महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख (Home Minister Anil Deshmukh) पर मुंबई के पूर्व सीपी परमबीर सिंह (Parambir Singh) द्वारा लगाए गए 100 करोड़ की वसूली का मामला लगातार सुर्खियों में बना हुआ है। इस मसले पर बीजेपी (BJP) पूरी तरह आक्रामक नजर आ रही है। इसी बीच सूबे के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने एक बार फिर प्रेस वार्ता कर राजनीतिक मसले पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। साथ ही उन्होंने उद्धव सरकार (Uddhav Govt) पर हमला बोलते हुए कहा कि गृहमंत्री अनिल देशमुख क्वारंटीन नहीं थे।

    महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि कल आदरणीय पवार साहब को सही ब्रीफिंग नहीं दी गई थी, एक राष्ट्रीय नेता के मुंह से गलत बातें कहलवाई गईं। 15 से 27 फरवरी के बीच गृह मंत्री जो होम क्वारंटीन थे, वो आइसोलेशन में नहीं थे। कई लोग उनसे मिले हैं।

    ANI का ट्वीट-

    देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि ट्रांसफर का रैकेट कमिश्नर ऑफ इंटेलिजेंस ने पकड़ा, पकड़ने से पहले DG और ACS होम की अनुमति ली और मुख्यमंत्री तक रिपोर्ट पहुंचाई। अब तक रिपोर्ट पर कार्रवाई नहीं की गई। मैंने आज दिल्ली में गृह सचिव से मिलने का समय मांगा है, मैं CBI से जांच कराने की मांग करूंगा।