CM Uddhav Thackeray
File Pic

    मुंबई. एक तरफ जहाँ देश में कोरोना (Corona) की दूसरी लहर फिलहाल धीमी पड़ गयी है। वहीं दूसरी तरफ महाराष्ट्र (Maharashtra) की उद्धव सरकार (Udhhav Goverment) ने अब राज्य में कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट (Delta Plus Veriant) और इसकी तीसरी लहर के प्रकोप के बंदोबस्त के लिए कमर कस ली है। वहीं अगर इसी प्रकार डेल्टा प्लस वैरिएंट के केसों में इजाफा हुआ तो शायद आगामी सोमवार को उद्धव सरकार लॉकडाउन या अनलॉक पर कोई बड़ा फैसला ले सकती है। 

    वैसे तो राज्य में अनलॉक (Unlock) के तहत धीरे-धीरे सभी चीजों को खोलने की इजाजत सरकार ने दी थी। लेकिन नए वैरिएंट डेल्टा प्लस के मामलों में इजाफा होने के बाद शायद यह भी हो सकता है कि एक बार फिर कड़े प्रतिबंध राज्य में लागू सरकार की तरफ से किया जाए। बता दें कि इससे  पहले राज्य स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा था कि, ‘लेवल 1 और 2 को खत्म करके अब उनकी जगह सम्पूर्ण महाराष्ट्र में लेवल 3 और उसके ऊपर के लेवल की पाबंदियों को लागू किया जाएगा।

    साथ ही टोपे ने यह भी साफ किया  कि कई जिलों को पहले दी गईं छूट अब खत्म कर दी जाएंगी। इसके साथ ही, स्थानीय निकायों को भी यह अधिकार दिया है कि वे सरकार द्वारा तय मापदंड के अनुसार अपने सीमा क्षेत्र में पाबंदियां लगाने के बारे में खुद भी त्वरित निर्णय लें। अब सरकार ने उड़न दस्ते (फ्लाइंग स्क्वॉड) गठित करने का भी निर्देश दिया है। ये दस्ते रेस्तरां, मॉल, शादी समारोह आदि स्थानों पर पहुंचकर देखेंगे कि कोरोना नियमों का पालन ठीक से किया भी जा रहा है या नहीं। इस प्रकार उन्होंने अब साफ़ संकेत दे दिया है कि अगर नए वैरिएंट डेल्टा प्लस के मामलों में कमी नहीं आती है तो आगे सरकार की तरफ से और सख्ती वाले नियम लागू हो सकते हैं। 

    क्या है नए दिशा निर्देशों की जरुरी बातें:

    • अब पूरा महाराष्ट्र राज्य लेवल-3 की कैटेगरी में।
    • लेवल-1 और लेवल-2 वाले जिले भी स्वतः लेवल 3 में आये।
    • जहां लेवल-1 और लेवल-2 के तहत छूट थी उन्हें वापस लेकर लेवल-3 के नियम लागू। 
    • अब मॉल और थिएटर खोलने पर फिर लगी रोक।
    • रेस्टारेंट 50% क्षमता के साथ सिर्फ शाम 4 बजे तक खुले रहेंगे, फिर टेकअवे और होम डिलिवरी।
    • लोकल ट्रेनों में सफर अब मेडिकल स्टाफ, अत्यावश्यक सेवाओं और महिलाओं तक ही सीमित।
    • पब्लिक प्लेस और गार्डन वॉकिंग और साइक्लिंग के लिए अब सुबह पांच से सुबह नौ बजे तक की ही परमिशन। 
    • सरकारी दफ़्तरों में सिर्फ 50% उपस्थिति की इजाजत।
    • शादी समारोह में भी अधिकतम 50 लोगों के मौज़ूद होने की छूट।
    • अंतिम संस्कार में भी अधिकतम 20 लोगों केहोने की छूट।
    • जरूरी दुकानें और प्रतिष्ठान शाम 4 बजे तक ही खुले रहेंगे।
    • गैर-जरूरी दुकानें और प्रतिष्ठान सोमवार से शुक्रवार शाम 4 बजे तक ही खुले रहेंगे।
    • जिम और सैलून शाम 4 बजे तक 50% क्षमता के साथ ही खुलेंगे।

    गौरतलब है कि अब तक देश के 11 राज्यों में से कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट के 48 मामले सामने आए हैं। जिसमें से 21 मामले सिर्फ महाराष्ट्र से हैं। यही कारण है कि सरकार की चिंता बढ़ गई है। बीते 24 घंटों की अगर बात करें तो शनिवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) के 9,812 नये मामले सामने आये और 179 लोगों की संक्रमण से जान चली गयी जिससे राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 60,26,847 हो गयी तथा मृतक संख्या 1,20,881 पर पहुंच गयी।

    राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि संक्रमण से मौत के 179 नये मामलों में 106 मामले पिछले 48 घंटे के हैं तथा 73 मामले पिछले सप्ताह सामने आए। वहींएक दिन में 8,752 लोगों को अस्पतालों से छुट्टी दिये जाने के बाद राज्य में अब तक 57,81,551 लोग संक्रमणमुक्त हो चुके हैं। इस समय राज्य में संक्रमणमुक्त होने की दर 95.93 प्रतिशत और संक्रमण से मृत्यु दर दो प्रतिशत है। ऐसे में शायद उद्धव सरकार कोई जोखिम न उठाते हुए आने वाले दिनों में राज्य में लॉकडाउन का ऐलान कर सकती है। हालांकि यह सिर्फ लोगों के कयास भर हैं। फिलहाल उद्धव सरकार की तरफ से ऐसा कोई भी आधिकारिक बयान नहीं दिया गया है।