File Photo
File Photo

    मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना वायरस (Corona Virus) ने तांडव मचाया हुआ है। इस वर्ष आ रहे मामले रोजाना रिकॉर्ड बना रहे हैं। राज्य में बढ़ रहे मामलों को लेकर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (Rajesh Tope) ने कहा, “आज महाराष्ट्र में 2.10 लाख मामले हैं जिनमें से 85% मामले स्पर्शोन्मुख ( Asymptomatic) हैं। पुणे (Pune), मुंबई (Mumbai) जैसे मेट्रो शहरों में मामले बढ़ रहे हैं।पुणे में प्रति मिलियन लगभग 3 लाख परीक्षण किए जा रहे हैं।”

    टोपे  ने कहा, “कोरोना वायरस मामलों की संख्या में वृद्धि के साथ हमें अधिक तैयार रहना होगा। हमें अपने जंबो कोरोना केंद्रों को सक्रिय करना होगा जो पहले सक्रिय थे।”

    गृहमंत्री द्वारा लगाए आरोपों से कम टेस्ट 

    टोपे ने गृहमंत्री अनिल देशमुख पर लगाए पैसे वसूली के आरोप पर तंज कस्ते हुए कहा, “महाराष्ट्र में प्रति माह कोरोना परीक्षण मामलों की संख्या गृह मंत्री द्वारा अपने पुलिस अधिकारियों को दी गई जबरन वसूली राशि से बहुत कम है। परीक्षण क्यों नहीं बढ़ाया और जबरन वसूली को कम किया?”

    अब छोटे अस्पतालों में लगेगा टीका 

    टोपे ने आगे कहा, “राज्य में अब तक हमने 45 लाख लोगों को टीका लगाया है, हर दिन 3 लाख लोगों को टीका लगाया जा रहा है। हम व्यवस्था कर रहे हैं ताकि लोगों को उनके पास एक जगह पर टीका लगाया जा सके।” उन्होंने कहा,”पहले हमारा एक नियम था कि केवल 100+ बेड वाले अस्पतालों को टीकाकरण की अनुमति दी जा सकती है, लेकिन अब 20 + बेड वाले अस्पतालों में टीका लगवाया जा सकता है।”

    बंद जंबो केंद्र फिर शुरू 

    पुणे में बढ़ते मामलों को देखते हुए शहर के सबसे बड़े कोरोना केंद्र को फिर से शुरू कर दिया है। पुणे शहर के मेयर मुरलीधर मोहोल ने कहा, “2 महीने पहले हमने जंबो कोविड अस्पताल को बंद किया था क्योंकि कोविड मामलों में गिरावट आई थी। अब कोविड मामले बढ़ते जा रहे हैं इसलिए जंबो कोविड अस्पताल को फिर से शुरू किया गया है। 1 सप्ताह के अंदर यहां 500 बेड की सुविधा शुरू की जाएगी।”

    उन्होंने कहा, “हमने इसे 50 बिस्तरों के साथ फिर से खोल दिया है। शुक्रवार तक 500 बेड होंगे। कोरोना रोगियों के लिए निजी अस्पतालों को अपनी क्षमता बढ़ाने के लिए भी कहा है।”

    जनता समझे नहीं तो फिर लगाना पड़ेगा लॉकडाउन 

    टोपे ने कहा, “मुख्यमंत्री राज्य की स्थिति को लेकर बहुत चिंतित हैं। उन्होंने लोगों से COVID से बचने के लिए जिम्मेदारी से व्यवहार करने का अनुरोध किया है, अन्यथा, सरकार को लॉकडाउन लगाने का सहारा लेना होगा। लोगों को दिशानिर्देशों का पालन करना चाहिए।”

    उन्होंने कहा, “हमने प्रति दिन 20 लाख वैक्सीन के लिए अनुरोध किया है। हमें सूचित किया गया था कि हम कल 9 लाख कोविल्ड वैक्सीन प्राप्त करेंगे। हमारा लक्ष्य 3 महीने के भीतर कमजोर समूहों का टीकाकरण करना है। लक्ष्य पूरा करने के लिए आवश्यक गति के लिए टीकों के अनुरोध की गई संख्या की आवश्यकता होगी।”