FADNAVIS-PARAMBEER

    मुंबई. महाराष्ट्र के मुंबई में देश के सबसे धनि उद्योगपति मुकेश अम्बानी (Mukesh Ambani) और एंटीलिया केस (Antilia) में फिलहाल सियासी घमासान अपने चरम पर है। इसी क्रम में आज आज मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह (Parambeer Singh) की चिट्ठी पर जहाँ सुप्रीम कोर्ट में एक अहम् सुनवाई शुरू होनी है। वहीं दूसरी तरफ केंद्रीय गृह सचिव से देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने मुलाकात की और सीलबंद लिफाफे में अहम् सबूत सौंपे हैं। इसके साथ ही नेता प्रतिपक्ष फडणवीस ने मामले की CBI जांच कराने की जोरदार मांग की। वहीं आज इस इस मामले को लेकर BJP अब महाराष्ट्र के गवर्नर  भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat singh Koshyari) से मुलाकात भी करेगी। 

    एक और चिट्ठी से  महाराष्ट्र की सियासत में  चिंगारी :

    विदित हो कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की चिट्ठी के बाद एक और चिट्ठी ने महाराष्ट्र की सियासत को चिंगारी दे दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अगस्त 2020 में तत्कालीन इंटेलिजेंस कमिश्नर रश्मि शुक्ला ने भी तत्कालीन DGP को खत लिखकर ट्रांसफर पोस्टिंग में दलाली के संगीन आरोप लगाए थे। इन्ही रश्मि शुक्ला की चिट्ठी पर अब फडणवीस ने आरोप लगाया कि उद्धव को इसकी जानकारी पहले से ही थी। वहीं इस पर नवाब मलिक ने पलटवार करते हुए रश्मि शुक्ला को बीजेपी का एक होशियार एजेंट बताया है।

    एंटीलिया केस में नया मोड़:

    इधर अब एंटीलिया केस में गिरफ्तार होने वाले दागी पुलिस इंस्पेक्टर सचिन वाजे को लेकर अब एक नया खुलासा हुआ है। जी हाँ अब अब NIA की जांच में यह तथ्य सामने आया है कि वाजे ने अपना फेक आधार कार्ड भी बनवा रखा था। सबसे खास बात यह है कि इस आधारकार्ड में तस्वीर तो खुद वाजे की ही थी, लेकिन उनके नाम की जगह ‘सुशांत सदाशिव खामकर’ लिखा हुआ था।  बताया जा रहा है कि NIA को इस आधार कार्ड की कॉपी ट्राईडेंट होटल से मिली है। जांच में यह तथ्य भी सामने आया है कि सचिन वाजे नीले रंग के 2 बैग्स के साथ होटल में दाखिल हुआ था। संभावना है कि इस आधार कार्ड के सहारे वाजे ने कई जगहों पर होटल बुक करवाए हुए थे।