corona

    मुंबई. एक तरफ देश(India) में कोरोना (Corona) की दूसरी लहर अपना प्रचंड रूप दिखा रही है। वहीं महाराष्ट्र (Maharashtra) में भी कोरोना महामारी (Corona Virus Epidemic) का प्रकोप और विनाश  लगातार बढ़ता क्रम पर है। इसी के चलते अब महाराष्ट्र ने “अन्य राज्यों से कोरोना वायरस के अन्य स्ट्रेन की आमद” को रोकने हेतु  बीते रविवार को राष्ट्रीय राजधानी समेत 7 राज्यों को अब संवेदनशील घोषित किया। 

    क्या है आदेश में:

    दरअसल महाराष्ट्र के मुख्य सचिव सीताराम कुंते के हस्ताक्षर वाले एक आदेश में अब केरल, गोवा, गुजरात, दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, राजस्थान व उत्तराखंड को संवेदनशील स्थान घोषित किया गया है। इस आदेश के अनुसार अब इन उक्त 6 राज्यों से महाराष्ट्र आ रहे यात्रियों को ट्रेन में यात्रा करने से 48 घंटे पहले कराई गई अपनी RT-PCR जांच की नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी। वहीं एक बयान में यह भी कहा गया कि महाराष्ट्र में कोरोना की रोकथाम और “अन्य राज्यों से कोरोना वायरस के अन्य स्ट्रेन की आमद” को रोकने के लिए यह फैसला लिया गया है।

    बीते रविवार को राज्य में कोरोना के 68 हजार से अधिक केस :

    गौरतलब है कि महाराष्ट्र में बीते रविवार को कोरोना के 68 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही अब राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 38 लाख से ऊपर हो गई है। वहीं इस भयंकर  महामारी के चलते इस राज्य में रिकॉर्ड 503 लोगों की मौत भी हो गई है। हालांकि राहत की बात यह है कि राज्य में पिछले 24 घंटे में 45 हजार 654 लोग कोरोना से ठीक हो कर घर लौटे हैं। राज्य में अब तक 31 लाख 06 हजार 828 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं। फिलहाल राज्य में 6 लाख 70 हजार 388 एक्टिव केस हैं।