udhhav

    मुंबई. जहाँ एक तरफ महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना(Corona) की दूसरी लहर बेकाबू हो गयी है । वहीं अब कोरोना संक्रमण की इस  दूसरी घटक लहर के बरपाते कहर के बीच महाराष्ट्र में लॉकडाउन का लगना अब  करीब-करीब तय हो गया है। हालाँकि महाराष्ट्र में  वीकेंड लॉकडाउन में जिस रफ्तार से कोरोना के केस बढ़ रहे हैं, उसे देखते हुए अब आज उद्धव सरकार (Udhhav Goverment), सम्पूर्ण  लॉकडाउन (Complete Lockdown) के फैसले पर मुहर लगा सकती है। 

    मानी उद्धव सरकार, सम्पूर्ण  लॉकडाउन जरुरी: 

    अब यह तो उद्धव सरकार का मानना है कि प्रदेश में कोरोना महामारी पर काबू पाने के लिए अब महाराष्ट्र राज्य में पूर्ण पाबंदी जरूरी है। इसी क्रम में आज आज यानी रविवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे COVID-19 टास्क फोर्स के साथ एक अहम बैठक करेंगे और फिर बैठक के बाद लॉकडाउन के फैसले पर अंतिम मुहर आज ही लगाई जा सकती है। 

     सम्पूर्ण  लॉकडाउन पर फैसला आज:

    यह भी बताया जा रहा है कि आज की COVID-19 टास्क फोर्सटास्क फोर्स की बैठक में ही सम्पूर्ण  लॉकडाउन की अवधि को लेकर भी फैसला होगा। यह कितने दिनों का लॉकडाउन होगा और इस दौरान क्या-क्या छूट रहेंगी और क्या-क्या पाबंदियों के जद में रहेंगे, इन सब पर आज मुख्यमंत्री के साथ टास्क फोर्स की बैठक में इन सब बातों पर महतवपूर्ण फैसला होगा। 

    दरअसल बीते शनिवार को ही , CM उद्धव ठाकरे ने एक सर्वदलीय बैठक बुलाई थी। इसमें सूत्रों के अनुसार उद्धव ठाकरे ने बैठक में यह स्पष्ट संकेत दे दिया कि कोरोना पर काबू पाने के लिए अब कोई और भी दूसरा चारा नहीं बचा है और सम्पूर्ण  लॉकडाउन लगाना ही होगा। हालांकि, विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस और एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे ने इसका पुरजोर विरोध किया था । इसके बाद तय किया गया कि आज यानि रविवार को टास्क फोर्स की बैठक में सम्पूर्ण लॉकडाउन पर आखिरी फैसला ले लिया जाएगा। 

    क्या कहते हैं उद्धव सरकार के मंत्री:

    इस महत्वपूर्ण बैठक के बाद महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने संवाददाताओं को बताया कि कोरोना वायरस की चेन तोड़ने के लिए ही यह सम्पूर्ण लॉकडाउन लगाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि आज यानि रविवार को टास्क फोर्स की बैठक होगी जिसमें लॉकडाउन लगाने पर फैसला लिया जाएगा।

    वहीं महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और एनसीपी नेता नवाब मलिक ने बैठक के बाद कहा, “सख्त प्रोटोकॉल के बावजूद कोरोना के केस बढ़ रहे हैं, आने वाले दिनों में स्वास्थ्य ढांचे पर और दबाव बढ़ सकता है। मुख्यमंत्री आज यानि रविवार को  टास्क फोर्स के साथ बैठक करेंगे, जिसके बाद आगे का फैसला लिया जाएगा।”

     इस पर कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री असलम शेख ने कहा, “सरकार लॉकडाउन से बचना चाहती है इसलिए सख्त पाबंदियां और वीकेंड लॉकडाउन लगाना पड़ा। लेकिन अब इनका भी कोरोना केसों पर कोई असर पड़ता नहीं दिख रहा है।”

    क्या है महाराष्ट्र में कोरोना का ग्राफ :

    गौरतलब है कि महाराष्ट्र राज्य में कोरोना का बेलगाम कहर जारी है और बीते 24 घंटों के अंदर 309 लोगों की मौत हुई है। जिसके बाद कोरोना से मरने वालों की संख्या अब 57,638 पहुंच गई है। 2021 में यह पहली बार है जब महाराष्ट्र राज्य में एक दिन में इतने लोगों की मौत हुई है। इसी के साथ शनिवार को 55 हज़ार 411 मामले भी सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry Of health) ने इस बात की जानकारी दी थी   

    वहीं स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 33,43,951 पहुंच गई है। जिसमें 27,48,153 लोग ठीक हो चुके हैं। जिनमें 53,005 लोग आज ठीक हुए हैं। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, महाराष्ट्र में अभी भी 5,36,682 लोगों का इलाज शुरू है। जो देश भर में कुल एक्टिव मामलों का 55 % है।